News

निर्भया मामला: सुप्रीम कोर्ट ने दोषी पवन की याचिका की खारिज, 1 फरवरी को होगी फांसी

निर्भया गैंगरेप में सभी दोषियों को मौत की सजा दे दी गई है। हालांकि कानूनी दावपेंच के चलते फांसी देने का तारीख बदल दी गई है। गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) मामले में मौत की सजा पाए दोषी पवन की याचिका सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सोमवार को खारिज कर दी है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 जनवरी): निर्भया (Nirbhaya) के हत्यारे पवन (Pawan) के नाबालिग होने का मामला, सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने याचिका (Petition) खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा ट्रायल कोर्ट (Trail Court), हाईकोर्ट (High Court) और सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) सब जगह उठाया जा चुका है। पवन (Pawan) के वकील ने याचिका (Petition) में कहा है कि अपराध के समय वह नाबालिग था, इसलिए उसे फांसी नहीं हो सकती है। निर्भया (Nirbhaya) के चार दोषियों में से एक दोषी पवन (Pawan) ने दिल्ली हाईकोर्ट Delhi High  के फ़ैसले को चुनौती बड़ी थी जिसमें हाईकोर्ट ने पवन को नाबालिग मानने से मना कर दिया था। सुनवाई के दौरान पवन के वकील एपी सिंह ने दलील दी कि स्कूल प्रमाणपत्र में पवन की उम्र वारदात के समय 18 साल से कम थी। स्कूल सर्टिफिकेट के मुताबिक पवन की जन्मतिथि 8 अक्टूबर 1996 है, पुलिस ने ये बात छिपाई। एपी सिंह ने कहा कि अपराध के समय पवन नाबालिग था, इसलिए उसे फाँसी नहीं हो सकती है। उन्होंने कोर्ट के एक पूर्व फैसले का उदाहरण दिया।

दिल्ली पुलिस की तरफ से सोलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट को बताया कि सुप्रीम कोर्ट में पवन की 9 जुलाई 2018 को पुनर्विचार याचिका ख़ारिज हो चुकी है और इस याचिका में भी नाबालिग की दलील रखी गयी थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने पवन के वकील से कहा कि पवन की उम्र का मुद्दा उसकी पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई के दौरान उठाया गया था और सुप्रीम कोर्ट इस दलील को पुनर्विचार याचिका के फैसले में पहले ही ख़ारिज कर चुका है, आप फिर वही मुद्दा उठा रहे हैं । इस तरह अगर बार बार कोर्ट में आते रहेंगे तो सुनवाई का कोई अंत नहीं होगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आप ट्रायल कोर्ट, हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे को उठा चुके हैं, कितनी बार आप यही मुद्दा उठाएंगे ?

पवन के वकील ने कोर्ट के फैसले के बाद

निर्भया की माँ ने संतोष जाहिर करते हुए कहा कि यह याचिका फांसी की तारीख टालने की थी। पवन के वकील ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि हम कोर्ट के फैसले का अध्ययन करेंगे और जरूरत पड़ी तो कुछ नए दस्तावेज के साथ इस फैसले के खिकाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करने पर विचार करेंगे। गौरतलब है कि निर्भया के हत्यारों के लिए 1 फरवरी सुबह 6 बजे के लिए डेथ वारंट जारी हुआ है। 


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top