News

इस्‍लाम में महिलाओं की जगह पैरों की जूती से कम नहीं- साक्षी महाराज

नई दिल्ली (16 अप्रैल): बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने उन्‍नाव में कहा कि इस्लाम में महिलाओं को पैरों की जूती समझा जाता है। उनके बयान का वीडियो एएनआई द्वारा जारी किया गया है। इस वीडियो में वो महिलाओं के मस्‍ज‍िद में घुसने के लिए कोर्ट द्वारा दखल देने की भी मांग करते नजर आ रहे हैं

साक्षी महाराज ने कहा, ”कोर्ट को इस्‍लाम धर्म के क्षेत्र में भी हस्‍तक्षेप करना चाहिए जहां स्‍त्र‍ियों को केवल और केवल पैरों की जूती समझा जाता है। जैसे जूती की जरूरत हो तो पहन लो और न जरूरत हो तो उतार के बाहर खड़ी कर दो उसको। उसके लिए इस्‍लाम की महिलाएं आंदोलनरत हैं। वो मांग उठा रही हैं। जिस तरह से हिंदुओं के विषय में कोर्ट हस्‍तक्षेप कर रहा है, मैं माननीय न्‍यायालय से अपेक्षा करना चाहूंगा कि उन्‍हें इस्‍लाम के संदर्भ में भी हस्‍तक्षेप करना चाहिए। वो भी तुम्‍हारी माताएं हैं, वो भी तुम्‍हारी बहनें हैं। उनके साथ भी तो अन्‍याय हो रहा है। वहां भी तो अन्‍याय न हो पाए। उन्‍हें भी वे सारे हक मिलें जो मनुष्‍य को मिलते हैं। इस संदर्भ में मैं कहना चाहता हूं कि सबको समान अधिकार होना चाहिए। देश फतवों से नहीं चलना चाहिए। ये देश भारत के संविधान के अनुसार चले। ये सरकार को भी और न्‍यायपालिका को सुनिश्‍च‍ित करने की आवश्‍यकता है।” 

गौर हो कि साक्षी महाराज विवादित बयान देने के लिए जाने जाते हैं। इस साल जनवरी में साक्षी महाहाज ने कहा था- 'राम मंदिर पार्टी के एजेंडा में है और इसका निर्माण 2019 में होने वाले अगले लोकसभा चुनाव से पहले होगा।


Related Story

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top