News

भागवत ने मोदी सरकार को चेताया, संसद में कानून बनाकर बनाएं राम मंदिर

नागपुर में आरएसएस के विजय दशमी उत्सव पर बोलते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग करते हुए सरकार से अध्यादेश लाने की बात कह डाली। उन्होंने राम मंदिर हिन्दू-मुसलमान का मसला नहीं है। यह भारत का प्रतीक है और जिस भी रास्ते से मंदिर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अक्टूबर): नागपुर में आरएसएस के विजय दशमी उत्सव पर बोलते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग करते हुए सरकार से अध्यादेश लाने की बात कह डाली। उन्होंने राम मंदिर हिन्दू-मुसलमान का मसला नहीं है। यह भारत का प्रतीक है और जिस भी रास्ते से मंदिर निर्माण संभव है, मंदिर का निर्माण होना चाहिए।

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि कुछ लोग राजनीति की वजह से जानबूझकर मंदिर मामले को आगे खींचते जा रहे हैं। राम मंदिर हिन्दू-मुसलमान का मसला नहीं है। यह भारत का प्रतीक है और जिस भी रास्ते से मंदिर निर्माण संभव है, मंदिर का निर्माण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि रामजन्मभूमि पर जल्द से जल्द राम मंदिर बनना चाहिए। सरकार को कानून बनाकर मंदिर निर्माण करना चाहिए। इसी के साथ उन्होंने कहा कि राम मंदिर का बनना गौरव की दृष्टि से आवश्यक है, मंदिर बनने से देश में सद्भावना व एकात्मता का वातावरण बनेगा।

सबरीमाला के मुद्दे पर भी बोलेसबरीमाला के मुद्दे पर मोहन भागवत ने कहा कि सबरीमाला के निर्णय का उद्देश्य स्त्री-पुरुष समानता का था, लेकिन क्या हुआ। इतने वर्षों से परंपरा चल रही है वह टूट गई, जिन्होंने याचिका डाली वो कभी मंदिर नहीं गए, जो महिलाएं आंदोलन कर रही हैं वो आस्था को मानती हैं। धर्म के मुद्दे पर धर्माचार्यों से बात होनी चाहिए, वो बदलाव की बात को समझते हैं। संघ प्रमुख ने कहा कि ये परंपरा है, उसके पीछे कई कारण होते हैं। कोर्ट के फैसले से वहां पर असंतोष पैदा हो गया है। महिलाएं ही इस परंपरा को मानती हैं लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top