News

फिलीस्तीन के दौरे पर पीएम मोदी, जानें बड़ी बातें...

नई दिल्ली (10 फरवरी): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को फिलिस्तीन दौरे पर हैं। उन्हें फिलिस्तीन का सर्वोच्च सम्मान दिया गया है। अपने दौरे में पीएम ने कहा कि भारत एक स्वतंत्र और संप्रभुत्वसंपन्न फिलिस्तीन का समर्थन करता है। पीएम फिलिस्तीन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने कहा, "मैंने राष्ट्रपति अब्बास को विश्वास दिलाया है कि भारत फिलिस्तीनी जनता के हितों के लिए प्रतिबद्ध है।"

आइए एक नज़र डालते हैं पीएम मोदी के फिलीस्तीन दौरे की बड़ी बातों पर-

-चार दिवसीय पश्चिम एशियाई देशों की यात्रा पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज फिलीस्तीन पहुंचे। रामल्लाह में कदम रखते ही फिलीस्तीन की यात्रा करने वाले मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन गए हैं।

- इस दौरान दोनों देशों के नेताओं के बीच द्वपक्षीय बैठक हुई। वहीं, पीएम मोदी को राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने ग्रैंड कॉलर प्रदान किया। ग्रांड कॉलर विदेशी मेहमान को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान होता है।

- पीएम मोदी ने कहा- भारत और फिलिस्तीन के बीच जो पुराना और मजबूत ऐतिहासिक संबंध है वह समय की कसौटी पर खरा उतरा है। फिलिस्तीन के हितों को हमारा समर्थन हमारी विदेश नीति में सदैव ऊपर रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि फिलिस्तीन के लोगों ने निरंतर चुनौतियों और संकट की स्थिति में अद्भुत दृढ़ता और साहस का परिचय दिया है। आपने परिस्थियों से निपटने के लिए चट्टान जैसी संकल्पशक्ति का परिचय दिया है।

- पीएम ने कहा कि इसके बावजूद कि अस्थिरता और असुरक्षा का वातावरण रहा है, जो प्रगति को बाधित करता है और कठिन संघर्ष से प्राप्त लाभों को खतरे में डालता है। जिन कठिनाइयों और चुनौतियों के बीच आप आगे बढ़े हैं वह प्रशंसनीय है। हम आपकी भावना और बेहतर कल के लिए प्रयास करने के आपके विश्वास की सराहना करते हैं।

- पीएम मोदी ने कहा कि भारत, रामल्ला में Institute of Diplomacy बनाने में भी सहयोग कर रहा है। हमें विश्वास है कि यह संस्थान फिलिस्तीन के युवा राजनयिकों के लिए एक विश्व-स्तरीय प्रशिक्षण संस्थान के रूप में उभरेगा।

-पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि इस यात्रा के दौरान हम अपने विकास सहयोग को आगे बढ़ा रहे हैं। भारत, फिलिस्तीन में स्वास्थ्य और शैक्षणिक ढांचा तथा महिला सशक्तीकरण केंद्र और एक printing press लगाने की परियोजनाओं में निवेश करता रहेगा।

-पीएम मोदी ने कहा कि हम ऊर्जावान फिलिस्तीनी राज्य के लिए यह योगदान निर्माण खंडमानते हैं। द्विपक्षीय स्तर पर, हम सहमत हैं कि मंत्री स्तर के माध्यम से संयुक्त आयोग की बैठक में उनके संबंधों को और अधिक गहन बनाया जा रहा है।पहली बार, पिछले साल भारत और फिलिस्तीन के युवा प्रतिनिधिमंडलों के बीच में आदान-प्रदान हुआ था। हमारे युवाओं में निवेश करना और उनके कौशल विकास और संबंधों को सहयोग करना, एक साझा प्राथमिकता है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top