News

कश्मीर पर पाकिस्तान के पाखण्ड का पर्दाफाश, अब झूठी खबरें फैलाने पर उतारू हैं इमरान के मंत्री

कश्मीर के मुद्दे पर दुनियाभर की दुलत्तियां खाने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके मंत्रियों की हालत सिरफिरे इनसानों जैसी हो गयी है। हर जगह पाकिस्तानी पाखण्ड का पर्दाफाश हो

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 अगस्त): कश्मीर के मुद्दे पर दुनियाभर की दुलत्तियां खाने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके मंत्रियों की हालत सिरफिरे इनसानों जैसी हो गयी है। हर जगह पाकिस्तानी पाखण्ड का पर्दाफाश हो गया तो अब वो फर्जी खबरों के जरिए कश्मीर में फसाद खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं। पाकिस्तान के मंत्री भी कश्मीर को लेकर गलत ट्वीट कर दुनिया में भारतीय सुरक्षा बलों की छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि हर बार उनका यह कारनामा उजागर हो रहा है। पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने पंजाबी कार्ड खेलते हुए ट्वीट किया है कि भारतीय सेना में पंजाबी सैनिकों को कश्मीर में जुल्म और अन्याय का हिस्सा बनने से इनकार कर देना चाहिए।

एक तरफ फवाद हुसैन पंजाबी प्रॉपेगैंडा चला रहे थे तो पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक ने कश्मीरियों पर अत्याचार का फर्जी दावा किया। इस पर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पाकिस्तानी नेता को तुरंत ट्विटर पर ही जवाब दिया। पुलिस ने उन्हें टैग करते हुए लिखा है कि यह पूरी तरह से झूठ है। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ट्विटर सपॉर्ट को टैग कर पाकिस्तानी नेता के खिलाफ ऐक्शन लिए जाने की भी सिफारिश की।

पाकिस्तान की तरफ से कश्मीर पर फर्जी खबरों की बाढ़ सी आ गई है। हालांकि अब भारतीय सुरक्षाबलों और एजेंसियों के सख्त होने के बाद ट्विटर ने ऐसे अकाउंट्स को सस्पेंड करना भी शुरू कर दिया है, जो फेक न्यूज फैला रहे हैं। मंगलवार को पाकिस्तान के नेता रहमान मलिक ने फर्जी दावा करते हुए ट्विटर पर लिखा था कि भारतीय सेना जम्मू-कश्मीर में हेलिकॉप्टरों से हमला कर रही है। कश्मीर में पूरी तरह से ब्लैकआउट है। यही नहीं, रहमान ने अपने ट्वीट में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और यूएन को भी टैग किया था। 

दिलचस्प यह है कि एक दिन पहले ही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने स्वीकार किया था कि संयुक्त राष्ट्र में कोई भी पाकिस्तान के लिए हार लेकर नहीं खड़ा है। उन्होंने कश्मीर पर पाकिस्तान के समर्थन में दुनिया के किसी भी देश के साथ न खड़े होने की बात भी मानी थी। उन्होंने कहा था कि दुनियाभर के देशों के भारत से हित जुड़े हैं इसलिए कोई भी देश खुलकर पाक के समर्थन में नहीं आएगा। आर्टिकल 370 को लेकर दुनियाभर में प्रॉपेगैंडा फैलाकर मदद मांगने की पाकिस्तान की कोशिशों को करारा झटका लगा है। 

अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र, रूस और चीन समेत तमाम देशों ने कश्मीर को द्विपक्षीय बातचीत से निपटाने की सलाह दी है। इसके अलावा रूस ने 370 हटाने को पूरी तरह से भारत का आंतरिक मामला बताया है। भारत सरकार ने सोमवार को भी 8 ट्विटर अकाउंट्स को ब्लॉक कराया था, जो जम्मू-कश्मीर पर अफवाहें फैला रहे थे।

Images Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top