News

नेपाल हादसा: 8 साल के मासूम को टीचर ने ऐसे समझाया

नेपाल घूमने गए आठ भारतीयों की होटल में सोते वक्त दम घुटने से मौत हो गई। प्रवीण कृष्णन नायर, सारन्या और उनके तीन बच्चे श्रीभद्रा, आर्चा और अभी नायर एक परिवार के सदस्य थे। वहीं, रंजीत कुमार टीबी, इंदु रंजीत और उनका बेटा वैष्णव रंजीत दूसरी फैमिली थी। ये सभी लोग केरल के रहने वाले थे और दोस्त थे। ये दोनों ही परिवार एक ही होटल में रूके थे।

Kerala Tourists

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 जनवरी): नेपाल (Nepal) घूमने गए आठ भारतीयों की होटल में सोते वक्त दम घुटने से मौत हो गई।  प्रवीण कृष्णन नायर, सारन्या और उनके तीन बच्चे श्रीभद्रा, आर्चा और अभी नायर एक परिवार के सदस्य थे। वहीं, रंजीत कुमार टीबी, इंदु रंजीत और उनका बेटा वैष्णव रंजीत दूसरी फैमिली थी। ये सभी लोग केरल के रहने वाले थे और दोस्त थे। ये दोनों ही परिवार एक ही होटल में रूके थे। बताया जा रहा है कि इन लोगों की मौत दम घुटने से हुई है। रंजीत कुमार का एक बेटा माधव इस हादसे में बच गया है। माधव अपने दोस्तों के साथ दूसरे कमरे में सो रहा था। आठ साल के माधव को अभी तक इस बात की खबर नहीं है कि उसके मां-बाप अब इस दुनिया में नहीं रहे। 

Kerala Tourists

आठ साल के माधव के स्कूल टीचर और एक काउंसलर ने उसे इतने बड़े हादसे के बारे में कुछ इस तरह बताया। टीचर और काउंसलर ने माधव को बताया कि 'उन्होंने एक गैस सूंघी है जिससे वे गहरी नींद में सो रहे हैं। वे अब दोबारा नहीं जागेंगे और भगवान के पास रहने गए हैं। तुम उन्हें जगाने की कोशिश भी मत करना और कल जब वे लोग जाने लगें तो उन्हें एक आखिरी किस देना।'  सात  माधव के मां-बाप और भाई की नेपाल के रिजॉर्ट में गैस रिसाव से मंगलवार को मौत हो गई थी। 

Kerala Tourists

मृतकों के नाम: प्रवीण के. नायर (39), पत्नी सरन्या (34), तीन बच्चे श्रीभद्र (9), अर्चा (8) और अभिनव (7), रणजीत कुमार (39), पत्नी इंदू लक्ष्मी (34) और बेटा वैभव (2)। 

ये सभी लोग घूमने के लिए पोखरा गए थे। वापस लौटते वक्त सोमवार की रात मकवानपुर जिले के दमन में एवरेस्ट पैनोरमा रिजॉर्ट में रुके थे। कमरे में केरोसीन हीटर के कारण दम घुटने से जिन 8 लोगों की मौत हो गई। वो बचपन के दो दोस्तों के परिवार थे। मृतकों में दोनों की पत्नियां और चार मासूम बच्चे शामिल हैं। हादसे की खबर तो मंगलवार को आ गई थी, लेकिन दोनों परिवारों की तस्वीर जिसने देखी, खुद को भावुक होने से रोक नहीं सका। ये परिवार थे, प्रवीण के. नायर और रणजीत कुमार के। दोनों ऑटोमोबाइल इंजीनियर थे और बचपन से दोस्त हैं। दोनों परिवार साथ में नेपाल घुमने गए थे और काठमांडु से 50 किमी दूर एक रिसॉर्ट में ठहरे थे। यहीं एक कमरे में आठों के शव मिले थे। परिवार का एक मासूम जिंदा बच गया तो दूसरे कमरे में सोया था।

यह भी पढ़ें : ये सेलेब्स भी हुए हैं हादसे का शिकार, किसी की गई जान.. कोई हुआ बूरा घायल


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top