News

यूपी में 2 दर्जन BJP सांसदों के कटेंगे टिकट, शाह ने राजभर को मनाया !

अगले महीने के पहले या फिर दूसरे सप्ताह में आम चुनाव का बिगुल बज सकता है। संभावना जताई जा रही है कि अप्रैल-मई में देश में आम चुनाव होगा। इन सबके बीच बजट सत्र के बाद से ही सभी पार्टियां 17वीं लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी है

अमित कुमार, न्यूज 24, नई दिल्ली (21 फरवरी): अगले महीने के पहले या फिर दूसरे सप्ताह में आम चुनाव का बिगुल बज सकता है। संभावना जताई जा रही है कि अप्रैल-मई में देश में आम चुनाव होगा। इन सबके बीच बजट सत्र के बाद से ही सभी पार्टियां 17वीं लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी है। समान विचारधारा वाली पार्टियां एक-दूसरे से गठबंधन को अंतिम रूप देने में जुटी है और तमाम बड़ी पार्टियां अपने गठबंधन से नाराज चल रही पार्टियों को मनाने में जुटी है। इसी कड़ी में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार रात गठबंधन से नाराज चल रहे सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी प्रमुख ओमप्राकाश राजभर की नाराजगी दूर करने की कोशिश की। बताया जा रहा है कि बैठक में अमित शाह और ओमप्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर के साथ-साथ यूपी के दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मोर्य और डॉ दिनेश शर्मा भी शामिल थे। जानकारी के मुताबिक इस बैठक के बाद लंबे असरे से गठबंधन से नाराज चल रहे ओमप्रकाश राजभर की नाराजगी दूर हो गई है और 26 फरवरी को अगली दौर की बैठक में सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति बनाई जाएगी।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के सामने जहां गठबंधन से नाराज चल रही पार्टियों को मनाने की चुनौती है। वहीं उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव और मायावती के गठबंधन और प्रियंका गांधी के राजनीति में सक्रिय होने के बाद बनने वाली सियासी समीकरणों को साधने की भी चुनौती है। लिहाजा  यूपी में बीजेपी ऐसे प्रत्याशियों को मैदान में उतारने की नीति पर कामकर रही जो  सिसायी समीकरण में फीट बैठ सके और जिनके जीत के आसार प्रवल हों। ऐसे में बीजेपी सूत्रों से खबर आ रही है कि पार्टी राज्य में अपने मौजूद दो दर्जन सांसदों का टिकट काट सकती है। इसमें कई केंद्रीय मंत्री भी शामिल हो सकते हैं।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कई मौकों पर ऐसे संकेत भी दे चुके हैं कि जिन सांसदों का पिछला कार्यकाल ठीक नहीं रहा है या फिर जिन सांसदों ने अपने-अपने क्षेत्र की जनता की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे हैं उनके टिकट काटे जा सकते हैं और उनकी जगह नए उम्मीदवारों को मौका दिया जा सकता है। सूत्रों की माने तो उत्तर प्रदेश में पार्टी कई नई चेहरों के साथ उत्तर प्रदेश के कई विधायकों और मंत्रियों को लोकसभा चुनाव में उतार सकती है। आपको बता दें कि पिछले साल बीजेपी ने सांसदों और मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड जारी किया था। पार्टी ने प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को मौजूदा सांसदों के रिपोर्ट कार्ड बनाने की जिम्मेदारी दी गई थी।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top