News

एग्जिट पोल को विपक्ष ने किया खारिज, जानें- किस नेता ने क्या कहा

17वीं लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग के बाद अब भारत समेत पूरी दुनिया की नजर 23 मई को होने वाले काउंटिंग पर टिकी है। वहीं 7वें और अंतिम चरण का मतदान समाप्त होने के बाद रविवार 19 मई को आए एक्जिट पोल में से ज्यादातर का आकलन है

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 मई): 17वीं लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग के बाद अब भारत समेत पूरी दुनिया की नजर 23 मई को होने वाले काउंटिंग पर टिकी है। वहीं 7वें और अंतिम चरण का मतदान समाप्त होने के बाद रविवार 19 मई को आए एक्जिट पोल में से ज्यादातर का आकलन है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी फिर से सत्ता में लौटेंगे। कुछ पोल के मुताबिक एनडीए को आसान बहुमत मिलेगा जबकि कुछ अन्य बहुमत के आंकड़े 272 से बहुत अधिक 300 से ज्यादा सीटें मिलने की बात कर रहे हैं। वहीं विपक्षी दलों ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए आए सभी एक्जिट पोल में बीजेपी-नीत एनडीए को बहुमत मिलने की संभावनाओं को सिरे से खारिज करते हुए इसे 'अटकल, 'फर्जीवाड़ा और जमीनी हकीकत से बहुत दूर बताया। लेकिन सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन  का कहना है कि अंतिम परिणाम एक्जिट पोल से भी बेहतर होंगे।

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि यह सिर्फ बाजार का दबाव है। समाजवादी नेता शरद यादव भी कुछ ऐसा ही सोचते हैं। एक्जिट पोल को 'गॉसिप बताने वाली तृणमूल कांग्रेस का कहना है कि उसके अपने आकलन के अनुसार पार्टी फिर से पश्चिम बंगाल में सभी सीटों पर जीत दर्ज कर रही है। एक्जिट पोल की आलोचना करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने दावा किया कि यह सभी फर्जी हैं और गलत तरीके से तैयार किए गए है।

कांग्रेस नेता सुशील कुमार शिंदे का कहना है कि 'एग्जिट पोल 2004 में आया था। हमारे खिलाफ। मैं बना था मुख्यमंत्री। कब सही हुआ है। किसी कार्यकर्ता को घबराने की जरूरत नहीं।' वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलामनबी आज़ाद का कहना है कि 'सरकार एग्जिट पोल करवा रही है। सरकार के इशारे पे हो रहा है।' वहीं हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा कि  'हमारे लोग एग्जिट पोल पर भरोसा नहीं करते। हरयाणा में सभी सीट हम जीतेंगे।' कांग्रेस नेता पीएल पुनिया का कहना है कि 'यूपी में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की सभाओं में भीड़ आती थी।अमित शाह की सभा में लोग आते नहीं थे। भाषण शुरू होने से पहले निकलना शुरू हो जाता था। ऐसे में बीजेपी को 60 से 70 सीट किसी के गले नहीं उतरती।' दिल्ली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जेपी अग्रवाल का कहना है कि 'उम्मीदवार,कांग्रेस एग्जिट पोल पे कानून बनना चाहिए अगर गलत हो तो कार्रवाई हो।'

इन सबके बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। प्रियंका गांधी ने एक्जिट पोल को खारिज करते हुए कहा है कि  कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे न्‍यूज चैनलों की ओर से प्रसारित एग्जिट पोल में एनडीए को बहुमत मिलने के अनुमान पर ध्‍यान दें। साथ ही प्रियांका गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से स्ट्रॉन्ग रूम और मतगणना केंद्रों पर डटे रहने की अपील की है। पार्टी कार्यकर्ताओं के नाम जारी अपने ऑडियो सन्देश में प्रियंका गांधी ने कहा है कि 'आप लोग अफवाहों और एक्जिट पोल से हिम्मत मत हारिए। यह अफवाहें आपका हौसला तोड़ने के लिए फैलाई जा रही है। इस बीच आपकी सावधानी और भी महत्वपूर्ण बन जाती है। स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्रों पर डटे रहिए और चौकन्ने रहिए।' साथ ही उन्होंने कहा, 'हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी और आपकी मेहनत का फल मिलेगा।'

आपको बता दें कि 19 मई को आए लगभग सभी प्रमुख एग्जिट पोल में एनडीए को बहुमत मिलने का अनुमान लगाया गया है। एग्जिट पोल के अनुमान जारी होते ही विपक्षी दलों में खलबली मच गई है। विपक्ष के नेताओं ने एक स्वर में एग्जिट पोल को खारिज कर रहे हैं। साथ ही विपक्षी दल ईवीएम और चुनाव प्रक्रिया को लेकर सवाल भी उठाए हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने ट्वीट करके कहा कि एग्जिट पोल्स जनता की नब्ज पकड़ने में नाकामयाब रहे हैं। उन्होंने कहा, 'एग्जिट पोल गलत साबित होंगे क्योंकि ये जमीनी हकीकत से बहुत दूर हैं। आंध्र प्रदेश में टीडीपी की सरकार बनेगी और केंद्र में गैरबीजेपी सरकार बनेगी। वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ने एग्जिट पोल को खारिज करते हुए कहा कि 'मैं एग्जिट पोल की गप पर यकीन नहीं करती। इस बकवास से हजारों ईवीएम से छेड़छाड़ या उन्हें बदलने की योजना बनाई जा रही है। मैं अपील करती हूं कि सभी विपक्षी दल एकजुट हों। हम साथ मिलकर लड़ाई लड़ेंगे।' वहीं आज आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री और टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू की अगुवाई में 21 विपक्षी दलों के नेता चुनाव आयोग के आलाधिकारियों से मुलाकात करने वाले हैं। ईवीएम को लेकर इन लोगों को धरने का भी कार्यक्रम है। चंद्रबाबू यह धरना VVPAT की गिनती की मांग को लेकर चुनाव आयोग के बाहर धरना करने वाले है।

आपको बता दें कि सातवें चरण के मतदान के बाद आए एग्जिट पोल के नतीजों में बीजेपी और एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है। अभी तक आए पोल के मुताबिक एनडीए को 300 से पार सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं, जबकि यूपीए को 127 सीटों मिलने के आसार हैं। यानी ज्यादातर एक्जिट पोल के मुताबिक एक बार फिर बीजेपी नीत एनडीए बहुमत से केन्द्र में सरकार बनाता दिख रहा है। लगभग सभी एक्जिट पोल में बीजेपी नीत गठबंधन को 272 के जादुई आंकड़े को पार करता दिखाया गया है। अब सबकी नजरें 23 मई को आने वाले नतीजों पर हैं। लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने 435 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं, बाकी सीटें बीजपी ने सहयोगियों के साथ बांटी हैं। कांग्रेस कुल 420 सीटों पर चुनाव लड़ा है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top