News

राहुल को जनता का जवाब, चौकीदार बेजोर है चोर नहीं

पीएम मोदी इस बड़ी जीत से साफ हो चुकी है कि देश की जनता ने मान लिया है कि चौकीदार चोर नहीं है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खासतौर पर ये कहा करते थे कि मोदी सरकार आम लोगों को लूट कर कुछ खास उद्योगपतियों की जेब भर रही है

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 मई): एकबार फिर नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र में एनडीए की सरकार बनने जा रही है। रुझानों में ही बीजेपी नेतृत्व वाले गठबंधन एनडीए को भारी बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है। रुझानों में बीजेपी और उसके सहयोगियों को जबरदस्त बहुमत मिल रहा है। एनडीए इस बार 2014 से भी बड़ा रिकॉर्ड बनाता दिख रहा है। मोदी लहर में 2014 में बीजेपी गठबंधन को 336 सीटें मिली थीं, जबकि इस बार अब तक आए रुझनों में बीजेपी गठबंधन इस आकंड़े को भी पार गई है। जबकि 2014 में उसे 282 सीटें मिली थीं। 2019 में भी बीजेपी को अपने दम पर स्पष्ट बहुमत दिखाई दे रही है। वहीं 2014 की तरह ही 2019 में भी कांग्रेस की हालत पतली है। रुझानों कांग्रेस की अगुवाई यूपीए को 90 के आसपास सीटें मिलती दिख रही है। वहीं अकेले कांग्रेस 50 सीटों के आसपास सिमटती दिख रही है। आपको बता दें कि 2014 के आम चुनाव में कांग्रेस के खाते में महज 44 सीटें आई थी।

पीएम मोदी इस बड़ी जीत से साफ हो चुकी है कि देश की जनता ने मान लिया है कि चौकीदार चोर नहीं है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खासतौर पर ये कहा करते थे कि मोदी सरकार आम लोगों को लूट कर कुछ खास उद्योगपतियों की जेब भर रही है। खासतौर से राफेल के मुद्दे पर राहुल गांधी कहा करते थे कि अनिल अंबानी को पीएम मोदी ने 30 हजार करोड़ का फायदा पहुंचाया है। इसके साथ ही वो चुनावी सभाओं में चौकीदार चोर के नारे लगवाते थे। कांग्रेस ‘गरीबी पर वार, 72 हजार’के नारे के साथ इस लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मात देने की रणनीति के साथ उतरी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘चौकीदार’ अभियान, बालाकोट हवाई हमला, राष्ट्रवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा और जनकल्याण से जुड़ी योजनाओं के आक्रामक प्रचार के आगे ढेर हो गई। इस चुनाव में मुख्य विपक्षी पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन की स्थिति यह है कि वह 2014 के अपने 44 सीटों के आंकड़ों में महज कुछ सीटों की बढ़ोतरी करती दिख रही है। चुनाव से पहले और चुनाव के दौरान भी कई जानकारों का यह कहना था कि अगर कांग्रेस सीटों का शतक भी लगा लेती है तो वह उसके और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी लिए सहज स्थिति होगी, हालांकि ऐसा नहीं होता दिख रहा।

राजनीति के माहिर खिलाड़ी नरेंद्र मोदी को राहुल के आरोपों में खुद के लिए हथियार नजर आया और वो अपने आप को मैं हूं चौकीदार कहने लगे। इससे भी बड़ी बात है कि पीएम मोदी की इस मुहिम में करीब 25 लाख लोग जुड़े। पीएम मोदी कहा करते थे कि इस देश का हर वो शख्स चौकीदार है जो जुल्म, अन्याय, बेरोजगारी के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है। रुझान इस बात की गवाही दे रहे हैं कि मैं हूं चौकीदार का नारा लोगों के दिल और दिमाग में बैठ गया और देश की जनता ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नकारात्मक नारे पर ऐतबार नहीं किया। आम चुनाव 2019 के प्रचार को दौरान जनसभाओं में राहुल गांधी ने करीब 500 बार चौकीदार चोर के नारे लगवाए। इससे भी बड़ी बात है कि अमेठी में नामांकन के बाद राहुल गांधी ने कहा था कि अब तो देश की सर्वोच्च अदालत ने भी मान लिया है कि देश का चौकीदार चोर है। इस विषय पर बीजेपी हमलावर हुई और सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अदालत ने राहुल गांधी को जमकर लताड़ लगाई और पूछा था कि जब उसने अपने आदेश में किसी का नाम नहीं लिया था तो उन्होंने ऐसा क्यों कहा। अदालत के सख्त रुख के बाद राहुल गांधी ने माफी मांग ली।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top