News

नीतीश की धमकी के बाद और हमलावर हुए पवन वर्मा

देशभर में मोदी सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन कानून बनाने के बाद विपक्षी पार्टियां बीजेपी पर निशाना साधने में लगी हैं। दूसरी तरफ बिहार में बीजेपी की सहयोगी पार्टी जेडीयू में विरोध की आवाजें सुनाई दे रही हैं।

Pawan Varma, पवन वर्मा

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(23 जनवरी): देशभर में मोदी सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन कानून बनाने के बाद विपक्षी पार्टि बीजेपी पर निशाना साधने में लगी हैं। दूसरी तरफ बिहार में बीजेपी की सहयोगी पार्टी जेडीयू में विरोध की आवाजें सुनाई दे रही हैं। जेडीयू पवन वर्मा की चिट्ठी पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें भविष्य की योजनाओं के लिए शुभकामनाएं दीं, लेकिन पवन वर्मा का कहना है कि अभी तक उन्हें उनकी चिट्ठी का जवाब नहीं मिला है, लेकिन शुभकामनाओं के लिए उनका धन्यवाद।

नीतीश कुमार के बयान के बाद पवन वर्मा ने जवाब दिया है कि मुख्यमंत्री के बयान का वो स्वागत करते हैं कि पार्टी में अभी भी विचार विमर्श की जगह बची है, लेकिन मेरा मकसद उन्हें कष्ट देना नहीं था। अपनी चिट्ठी को लेकर पवन वर्मा ने कहा कि मैं पार्टी से विचारधारा पर सफाई चाहता था, लेकिन जो चिट्ठी मैंने लिखी थी उसपर जवाब का अभी भी इंतजार है, अपनी भविष्य की रणनीति का खुलासा वो उसके बाद ही करेंगे।

पवन वर्मा का कहना है कि बीजेपी की सबसे पुरानी सहयोगी अकाली दल ने भी CAA के मुद्दे पर दिल्ली में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। उन्होंने पूछा कि जनता दल यूनाइटेड ने किस विचारधारा के साथ बीजेपी के साथ लड़ने का फैसला किया है, यही मेरा सवाल था।

नीतीश कुमार ने दिया था जवाब

गुरुवार को ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पवन वर्मा की चिट्ठी पर जवाब दिया था। नीतीश कुमार ने कहा था कि अगर किसी के पास बात करने के लिए कोई विषय है, तो वह पार्टी की बैठक में उठा सकते हैं, लेकिन अगर वह (पवन वर्मा) किसी दूसरी पार्टी में जाना हो तो जा सकते हैं, जो उनकी पसंद की पार्टी हो. उसके लिए उन्हें शुभकामनाएं।

पवन वर्मा ने चिट्ठी में लिखा था

नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर विवाद के बीच पवन वर्मा ने पार्टी प्रमुख नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखी थी। उन्होंने लिखा था कि पार्टी को अपनी विचारधारा साफ करनी चाहिए क्योंकि पहले नीतीश BJP-RSS के विरोध की बात करते थे, लेकिन अब उन्हीं के साथ दिल्ली में गठबंधन कर रहे हैं। साथ ही पवन वर्मा ने राज्यसभा, लोकसभा में CAA के समर्थन पर सवाल खड़े किए थे।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top