News

वुहान से भारतीयों को निकालने की तैयारियां पूरी, बस चीन की हरी झण्डी का इंतजार

चीन में भारतीयों को निकालने के लिए भारत के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने बीजिंग में अपने समकक्षों से बात कर ली है। वायरस से निपटने के सभी उपायों के साथ ही भारतीयों को वुहान से वापस बुला लिया जायेगा। बस चीन की हरी झण्डी का इंतजार है।

All Possible Steps, Eevacuation, Indians, Coronavirus, Wuhan

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (27 जनवरी): चीन में भारतीयों को निकालने के लिए भारत के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने बीजिंग में अपने समकक्षों से बात कर ली है। वायरस से निपटने के सभी उपायों के साथ ही भारतीयों को वुहान से वापस बुला लिया जायेगा। दरअसल, कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 81 हो गई है। हालात की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ टेड्रोस अधैनोम गेब्रेयस आनन-फानन में चीन पहुंचे हैं जहां इस खतरे से निपटने को लेकर अधिकारियों से चर्चा कर रहे हैं।

चीन में कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुई स्थितियों पर चर्चा के लिए सोमवार को कैबिनेट सेक्रटरी राजीव गाबा की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। बैठक में फैसला किया गया कि कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित चीन के वुहान शहर में फंसे भारतीय छात्रों को वहां से सुरक्षित निकाला जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि विदेश मंत्रालय वुहान से भारतीयों को निकालने देने के लिए चीन से अनुरोध करेगा। चीन में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। सोमवार को राजधानी पेइचिंग में इस वायरस से पहली मौत रिपोर्ट हुई है।

भारत में करीब 450 लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित होने के शक में निगरानी में रखा गया है लेकिन राहत की बात यह है कि अबतक कोई इससे संक्रमित नहीं मिला है। वायरस की दहशत इतनी है कि हाल के दिनों में चीन से लौटने वाले लोग खुद ही ऐहतियात के तौर पर मेडिकल अथॉरिटीज के पास पहुंच रहे हैं।

कैबिनेट सेक्रटरी राजीव गाबा की अध्यक्षता में दिल्ली में हुई उच्च स्तरीय बैठक में कई ऐहतियाती कदम उठाने का फैसला किया गया है जिनमें इंटरनैशनल पोर्ट्स पर चीन से आने वाले लोगों की जांच के साथ-साथ नेपाल से सटे इलाकों में सतर्कता बढ़ाना भी शामिल है। उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में हेल्थकेयर एक्सपर्ट्स को तैनात किया जा चुका है। मीटिंग में यह भी फैला हुआ कि सिविल एविएशन मिनिस्ट्री एयरलाइंस के लिए इंस्ट्रक्शन जारी करेगा कि चीन से डायरेक्ट या इनडायरेक्ट कनेक्टिविटी वाली सभी फ्लाइटों में अगर कोई बीमार पड़ता है तो तुरंत इसकी जानकारी दे।

गृह मंत्रालय इस बात को सुनिश्चित करेगा कि नेपाल सीमा पर सभी इंटिग्रेटेड चेक पोस्ट पर विजिटर्स की जांच शुरू हो। बैठक के बाद जारी बयान में कहा गया है, 'राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे इन चेक पोस्ट्स पर हेल्थकेयर स्टाफ तैनात करें। चेक पोस्ट्स पर तैनात एसएसबी/बीएसएफ/इमिग्रेशन के अफसरों को मामले की गंभीरता और संवेदनशीलता के बारे में बताया गया है।'

Image Courtesy: Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top