News

उद्धव ठाकरे के बयान पर शिवसेना में बगावत, सांसद सदाशिव लोखंडे ने कही ये बात

महाराष्ट्र (Maharastra) में शिवसेना प्रमुख (Shiv Sena Chief) और सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackray) के बयान को लेकर पार्टी में बगावत शुरू हो गई है। शिर्डी (Shirdi) से शिवसेना (Shiv Sena) के सांसद सदाशिव लोखंडे भी उद्धव ठाकरे

Shiv Sena, शिव सेना

Image Source Google

दीपक दुबे, न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई(19 जनवरी): महाराष्ट्र (Maharastra) में शिवसेना प्रमुख (Shiv Sena Chief) और सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackray) के बयान को लेकर पार्टी में बगावत शुरू हो गई है। शिर्डी (Shirdi) से शिवसेना (Shiv Sena) के सांसद सदाशिव लोखंडे भी उद्धव ठाकरे के बयान के विरोध में उतर गए हैं। उनका कहना है कि मैं उद्धव ठाकरे से बात करुंगा, सदाशिव लोखंडे ने कहा कि पहले मैं शिर्डी का हूं और फिर शिवसेना का कार्यकर्ता हूं। साईं बाबा जन्मस्थान विवाद में अब विरोध प्रदर्शन शुरु हो गया है। सीएम उद्धव ठाकरे के बयान के खिलाफ ये प्रदर्शन हो रहा है।

उद्धव ठाकरे ने कहा था कि परभणी का पाथरी गांव साईं बाबा की जन्मस्थली है। इसी का शिर्डी के लोग विरोध कर रहे हैं, श्रद्धालु सीएम ठाकरे के खिलाफ पोस्टर और बैनर लेकर परिक्रमा कर रहे हैं। शनिवार देर रात 12 बजे से ग्राम सभा ने रात 12 बजे से शिर्डी शहर बंद कर दिया। हालांकि, साईं बाबा मंदिर के न्यासियों ने शनिवार को कहा कि बंद के बावजूद मंदिर खुला रहेगा। शिर्डी स्थित साईं मंदिर में देशभर के लाखों श्रद्धालु आते हैं।

साईं बाबा के जन्म स्थान को लेकर अलग अलग मत हैं लोग

दरअसल साईं बाबा के कुछ भक्त उनका जन्म स्थान शिर्डी को मानते हैं. शिर्डी उनकी कर्मस्थली भी रही है और यहीं उन्होंने देह त्यागा था. वहीं कुछ लोग ऐसे हैं जो उनका जन्म स्थान शिर्डी को नहीं मानते, उन्हीं में से एक हैं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे यह विवाद उस समय पैदा हुआ जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परभणी जिले के पाथरी में साईं बाबा जन्मस्थान पर सुविधाओं का विकास करने के लिए 100 करोड़ रुपये की राशि आवंटित करने की घोषणा की थी। कुछ श्रद्धालु पाथरी को साईं बाबा का जन्मस्थान मानते हैं जबकि शिरडी के लोगों का दावा है कि उनका जन्मस्थान अज्ञात है, शिरडी स्थित श्री साईं बाबा संस्थान न्यास के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपक मुगलीकर ने बताया कि बंद के बावजूद मंदिर खुला रहेगा।

शिवसेना के मंत्री अब्दुल सत्तार का क्या कहना है

साईं बाबा के जन्म स्थान पर हुए विवाद को लेकर एबीपी न्यूज़ ने शिवसेना के मंत्री अब्दुल सत्तार से बात की। सत्तार ने साफ किया कि उद्धव ने ऐसा एलान क्यों किया,अब्दुल सत्तार ने कहा, ''साईं बाबा के जन्म स्थान पाथरी को को सरकार की तरफ से जो फंड देने की बात हुई है उसपर बाकयदा मीटिंग हुई है। उस मीटिंग में मैं भी मौजूद था. मुख्यमंत्री को कागजातों के साथ बताया गया है कि साईं बाबा का असली जन्म स्थान परबनी के पाथरी गांव में ही हुआ था। इसी के आधार पर उस गांव के विकास के लिये सरकार की तरफ से सहायता की जा रही है।

स्थानीय बीजेपी विधायक राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा कि उन्होंने स्थानीय लोगों द्वारा बुलाए गए बंद का समर्थन किया है। उन्होंने कहा, ''मुख्यमंत्री को साईं बाबा का जन्मस्थान पाथरी होने संबंधी बयान को वापस लेना चाहिए। पूर्व राज्यमंत्री ने कहा, ''देश के कई साईं मंदिरों में एक पाथरी में भी है. सभी साईं भक्त इससे आहत हुए हैं, इसलिए इस विवाद को खत्म होना चाहिए।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top