News

विवादित बयानबाजी को लेकर बीजेपी के इस नेता को EC ने भेजा नोटिस

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) का पारा इन दिनों सातवें आसमान पर चढ़ता जा रहा है। बीजेपी (Bjp),कांग्रेस (Congress) और आप चुनाव जीतने के लिए पूरे जोर लगा रहे हैं।

Anurag Thakur, अनुराग ठाकुर

  Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(28 जनवरी): दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) का पारा इन दिनों सातवें आसमान पर चढ़ता जा रहा है। बीजेपी (Bjp),कांग्रेस (Congress) और आप चुनाव जीतने के लिए पूरे जोर लगा रहे हैं। दिल्ली (Delhi) में 8 फरवरी को वोट डाले जाएंगे, लेकिन उससे पहले नेताओं की बयानबाजी सुर्खियों का केंद्र बनी हुई है। बीजेपी (Bjp) नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) के बयान को लेकर चुनाव आयोग ने डंडा चलाया था। अब फिर चुनाव आयोग (Election Commission) बीजेपी के सांसद अनुराग ठाकुर को उनकी विवादित बयानबाजी को लेकर नोटिस जारी जारी किया है। आयोग ने ठाकुर को विवादित नारा लगवाने पर कारण बताओ नोटिस देकर उनसे जवाब मांगा है। उन्हें इसके लिए 30 जनवरी के दोपहर 12 बजे तक का वक्त दिया है। इससे पहले दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी के कार्यालय ने ठाकुर और एक अन्य बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा की टिप्पणियों पर चुनाव आयोग को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। दूसरी तरफ, कांग्रेस ने बीजेपी नेताओं की बयानबाजियों की तुलना जर्मनी के नाजी दौर से की है।

Anurag Thakur, अनुराग ठाकुर

बीजेपी नेताओं के खिलाफ कांग्रेस चुनाव आयोग पहुंची

बीजेपी नेताओं के 'भड़काऊ बयानों' के खिलाफ मंगलवार को ही कांग्रेस ने चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया था और कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा की अगुआई में कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंल चुनाव आयोग पहुंचा और बीजेपी नेताओं के बयानों को लेकर शिकायत की। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अजय माकन ने कहा, 'प्रवेश वर्मा और अनुराग ठाकुर और खुद गृह मंत्री अमित शाह जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं, उससे साफ होता है कि बीजेपी अपनी हार के डर से बौखलाकर सांप्रदायिक माहौल पैदा करना चाहती है।

कांग्रेस के सीनियर नेता पी. चिदंबरम ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के एक विवादित नारा लगाने पर हमला बोला और दावा किया कि सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं के बयान 1930 के दशक के जर्मनी की याद दिलाते हैं। पूर्व गृह मंत्री चिदंबरम ने ट्वीट किया, 'मंत्री लोगों को ‘गोली मारो’ के नारे के साथ उकसा रहे हैं। क्या यह एक तबके के खिलाफ हिंसा के लिए भड़काना नहीं है?' उन्होंने सवाल किया, 'चुनाव आयोग नींद से कब जागेगा?' चिदंबरम ने दावा किया, 'एक-एक दिन बीतने के साथ ही BJP की तरफ से जो बयानबाजी हो रही है वह 1930 के दशक के जर्मनी की याद दिलाती है।' उनका इशारा जर्मनी में नाजीवाद के दौर की तरफ था जब वहां यहूदियों पर अत्याचार हुए थे।

दरअसल, बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने मंगलवार को एक विवाद पैदा करते हुए कहा कि कश्मीर में जो कश्मीरी पंडितों के साथ हुआ वह दिल्ली में भी हो सकता है। उन्होंने चेतावनी दी कि शाहीन बाग में लाखों सीएए विरोधी प्रदर्शनकारी घरों में घुस सकते हैं और महिलाओं से बलात्कार कर सकते हैं। इससे पहले सोमवार को बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने विवाद पैदा कर दिया था जब उन्होंने चुनावी रैली में आए लोगों को 'गद्दारों को मारने वाला' नारा लगाने के लिए लोगों को उकसाया।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top