News

कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को मिली जमानत, अदालत ने रखी ये शर्त

राजद्रोह मामले में गिरफ्तार किए गए कांग्रेस नेता (Congress Leader) हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को बुधवार को जमानत मिल गई है। हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को 4 दिन पहले राजद्रोह के मामले में अहमदाबाद (Ahamdabad) से पुलिस (Police) ने गिरफ्तार किया था।

Hardik Patel, हार्दिक पटेल

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(22 जनवरी): राजद्रोह मामले में  गिरफ्तार किए गए कांग्रेस नेता (Congress Leader) हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को बुधवार को जमानत मिल गई है। हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को 4 दिन पहले राजद्रोह के मामले में अहमदाबाद (Ahamdabad) से पुलिस (Police) ने गिरफ्तार किया था। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश बी जी गणात्रा ने उन्हें को इस शर्त पर जमानत दी कि वह अदालती कार्रवाई में पूरी मदद करेंगे और जब तक कोई वाजिब कारण नहीं होगा तब तक स्थगन नहीं लेंगे। अदालत 24 जनवरी को राजद्रोह के मामले की अगली सुनवाई करेगी। पिछले शनिवार को न्यायाधीश गणात्रा ने पाटीदार नेता के सुनवाई के दौरान उपस्थित नहीं होने पर पटेल के खिलाफ सरकार की याचिका स्वीकार करते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। इसके बाद अहमदाबाद जिले के वीरमगाम से जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। अदालत ने पाया था कि पटेल सुनावई के दौरान सहयोग न करके अपनी जमानत की शर्तों की अवज्ञा कर रहे थे। 

कोर्ट ने जारी किया था गैर जमानती वारंट

जानकारी के मुताबिक अहमदाबाद की एक अदालत ने 18 जनवरी को हार्दिक पटेल के खिलाफ पाटीदार आरक्षण समर्थक रैली के बाद हुई हिंसा के मामले में दायर राजद्रोह के एक केस में गैर जमानती वारंट जारी कर दिया था। बताया जा रहा है कि अदालत ने सुनवाई के दौरान हार्दिक की लगातार गैरमौजूदगी की वजह से यह गैर जमानती वारंट जारी किया था। अतिरिक्त जिला न्यायाधीश बीजे गणात्रा की कोर्ट ने हार्दिक के खिलाफ वारंट जारी करने के बाद मामले की अगली सुनवाई 24 जनवरी को तय की थी।

2015 की रैली के बाद राज्य में हुई थी हिंसा

बता दें कि 25 अगस्त 2015 को अहमदाबाद में जीएमडीसी मैदान में पाटीदार आरक्षण समर्थक रैली के बाद राज्य भर में तोड़फोड़ और हिंसा हुई थी जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने उसी साल अक्टूबर में एक केस दर्ज किया था. पुलिस ने अपनी चार्जशीट में हार्दिक और उनके कुछ सहयोगियों पर हिंसा फैलाने और चुनी हुई सरकार को गिराने का षडयंत्र करने का आरोप लगाया था.


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top