News

'थोथा चना'... ! कश्मीर पर युद्ध की गीदड़ भभकी दे रहे हैं पाक के पूर्व उच्चायुक्त अब्दुल बासित

अनुच्छेद 370 को कश्मीर से हटाये जाने के बाद भारत के पक्ष में आये विश्वसमुदाय से पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी है। यही कारण है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान समेत सभी सियासी नेता लगातार

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 अगस्त): भारत में पाकिस्तान के पूर्व उच्चायुक्त और आईएसआई के कथित एजेंट अब्दुल बासित ने  कश्मीर मसले पर भारत को युद्ध की गीदड़ भभकी दी है। अनुच्छेद 370 को कश्मीर से हटाये जाने के बाद भारत के पक्ष में आये विश्वसमुदाय से पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी है। यही कारण है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान समेत सभी सियासी नेता लगातार गैर-जिम्मेदाराना बयान देकर इस मुद्दे को तूल देने की कोशिश कर रहे हैं।  बासित ने कहा कि यदि भारत हद पार करे तो युद्ध करना चाहिए।

अब्दुल बासित ने कहा, 'कश्मीर में संघर्ष के चार मोर्चे हैं। पहला, नैशनल कॉन्फ्रेंस द्वारा सुप्रीम कोर्ट में कानूनी लड़ाई। दूसरा, पाकिस्तान को आत्मनिर्णय के साथ कूटनीतिक प्रयास जारी रखने चाहिए। तीसरा, पाकिस्तानी और कश्मीरी प्रवासी इस संबंध में काम करते रहें। चौथा, सबसे महत्वपूर्ण यह है कि कश्मीर में राजनीतिक लड़ाई को पाकिस्तान कमजोर न होने दे। यदि भारत अपनी हदें पार करे तो युद्ध की तरफ बढ़ा जाए।'

बासित के नापाक इरादे यहीं खत्म नहीं हुए। उन्होंने पाकिस्तान सरकार से जम्मू-कश्मीर के मामलों के लिए विदेश मंत्रालय में अलग सेल बनाने की मांग भी की, साथ ही कहा कि इस सेल का नेतृत्व विशेष राजनयिक करें। अब्दुल बासित ने कहा, 'सही और प्रभावी कूटनीति के लिए सही संगठनात्मक संरचना बहुत जरूरी है। कश्मीर पर पाकिस्तान को अपनी पुरानी नीति में बदलाव लाना होगा।'अमेरिका, रूस और संयुक्त राष्ट्र समेत कई देश अनुच्छेद 370 हटाने को भारत का आंतरिक मामला बता चुके हैं। 

दुनिया में कहीं भी अपनी दाल न गलती देख पाकिस्तान ने अन्य देशों में रह रहे अपने नागरिकों और कश्मीरियों से दुनिया भर में इस मुद्दे को उठाने को कहा है। विदेश मंत्री ने कहा कि कुछ लापरवाहियों ने पाकिस्तान को इस मामले में दशकों पीछे धकेल दिया। उन्होंने कहा, 'अब आगे बढ़ने का वक्त है।.जिस दिन मोदी संयुक्त राष्ट्र आम सभा के लिए जाएं, कश्मीरियों और पाकिस्तानियों को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन करना होगा, विश्व बिरादरी को चिट्ठी लिखनी होगी, आवाज उठानी होगी। हमें अपनी लड़ाई भरपूर तरीके से लड़नी होगी।'

पाकिस्तान के नेताओं के साथ सरकार भी लगातार उकसाने वाली कार्रवाई कर रही है। महंगाई और आर्थिक मोर्चे पर लगातार पस्त हो रहा पाकिस्तान उकसावे का कोई मौका नहीं छोड़ रहा है। खबर है कि पाकिस्तान लद्दाख सीमा के पास युद्ध के साजो-सामान भी जुटाने लगा है। सरकारी सूत्रों ने बताया, 'केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख की सीमा के पार पाकिस्तान स्थित स्कर्दू इलाके में शनिवार को पाकिस्तान एयरफोर्स के तीन सी-130 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट से युद्धक सामान लाए गए।

Images Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top