News

भारत-नेपाल सीमा पर पहुंचा कोरोना वायरस

चीन में जानलेवा बन चुके कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। नेपाल में एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद भारत में इसे फैलने से रोकने के लिये नेपाल सीमा पर स्वास्थ्य जांच केन्द्र बनाने का सुझाव दिया गया है। इसके अलावा इस बीमारी को रोकने के लिए देशभर में एहतियात के तौर पर कदम उठाए जा रहा हैं।

Coronavirus

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (27 जनवरी): चीन (China) में जानलेवा बन चुके कोरोना वायरस (Coronavirus) से पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। नेपाल (Nepal) में एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद भारत (India) में इसे फैलने से रोकने के लिये नेपाल सीमा पर स्वास्थ्य जांच केन्द्र बनाने का सुझाव दिया गया है। इसके अलावा इस बीमारी को रोकने के लिए देशभर में एहतियात के तौर पर कदम उठाए जा रहा हैं। चीन से आने वाली फ्लाइटों की चौंकसी बढ़ा दी गई है। इस कारण नेपाल से सटे राज्यों यूपी, बिहार और उत्तराखंड में खास चौकसी रखी जा रही है। बिहार सरकार ने भी एडवाइजरी जारी की है। 

Coronavirus

आपको बता दें कि इस संक्रमण से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 80 हो गई है। चीन से शुरू होकर ये वायरस अब 10 से अधिक देशों में फैल चुका है। वैज्ञानिकों का कहना है कि पूरे एशिया में फैलने वाला घातक वायरस उम्मीद से कहीं ज्यादा संक्रामक है। यह एक वायरस जो खांसी या संक्रमित व्यक्ति की छींक से ही दूसरे तक फैल सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने और एशिया के सभी लोगों से  एहतियात बरतने को कहा है।

Coronavirus

कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की नेपाल में पुष्टि होने के बाद भारत में भी इस खतरनाक वायरस का खतरा मंडरा रहा है। चीन से भारत आने वाले यात्रियों की पूरी तरह से जांच की जा रही है। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर इस विषय में व्यक्तिगत रूप से प्रबंधन की निगरानी करने का आग्रह किया है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली में एक उच्चस्तरीय बैठक की। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए बुलाई गई बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी, आईसीएमआर व एनसीडीसी के वैज्ञानिक व अन्य विशेषज्ञ शामिल हुए। 

dr harsh vardhan

बैठक के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि 'नोवेल कोरोना वायरस से निपटने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विशेषज्ञों की सात अलग-अलग टीम बनाने का फैसला लिया है। विशेषज्ञों की ये टीमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद व कोच्चि एयरपोर्ट्स जाकर कोरोना वायरस से निपटने के इंतजामों का जायजा लेगी।' साथ ही कोरोना वायरस को लेकर एक हेल्पलाइन नंबर 011-23978046 भी जारी किया है। मंत्रालय का कहना है कि किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए यह हेल्पलाइन नंबर चौबीसों घंटे उपलब्ध रहेगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने बताया कि अभी तक भारत में कोई भी व्यक्ति नोवेल कोरोना वायरस से ग्रसित नहीं पाया गया है। हालांकि 11 व्यक्तियों को अभी संदेह के आधार पर चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया है।

यह भी पढ़े : चीन: सामने आई कोरोना वायरस की खौफनाक तस्वीरें

(Image Source: Google)


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top