News

पश्चिम बंगालः जयश्रीराम बोलने पर बीजेपी के एक और कार्यकर्ता की हत्या !

पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को कथित तौर पर जय श्री राम बोलने पर बुरी तरह पीटे गये भाजपा कार्यकर्ता की शनिवार को अस्पताल में मौत हो गयी। यह घटना नादिया जिले के नवद्वीप शहर के स्वरूपनगर की बतायी जाती है। भाजपा सूत्रों के मुजाबित स्थानीय कार्यकर्ता कृष्णा देबनाथ को शुक्रवार शाम सड़क किनारे पड़ा देख परिवार के सदस्यों ने एक स्थानीय अस्पताल पहुंचाया

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (6 जुलाई): पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को कथित तौर पर जय श्री राम बोलने पर बुरी तरह पीटे गये भाजपा कार्यकर्ता की शनिवार को अस्पताल में मौत हो गयी। यह घटना नादिया जिले के नवद्वीप शहर के स्वरूपनगर की बतायी जाती है। भाजपा  सूत्रों के मुजाबित स्थानीय कार्यकर्ता कृष्णा देबनाथ को शुक्रवार शाम सड़क किनारे पड़ा देख परिवार के सदस्यों ने एक स्थानीय अस्पताल पहुंचाया। उनकी स्थिति गंभीर देखते हुए  कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

स्थानीय भाजपा नेतृत्व ने देबनाथ की हत्या के लिए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के समर्थकों को जिम्मेदार ठहराया और वे उसके शव को लेकर नबद्वीप में एक जाम भी लगाया। नबद्वीप के एक भाजपा नेता ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने राम का नाम बोलने पर उसकी पिटाई की। तृणमूल हमारे कार्यकर्ताओं को डराने के लिए इस तरह की क्रूरता कर रही है। हमने सड़क इसलिए जाम किया, क्योंकि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की।"

घटना के बारे में पूछने पर भाजपा के राज्य अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि टीएमसी पश्चिम बंगाल में जय श्री राम कहने पर भाजपा कार्यकर्ताओं को पीट रही है, जबकि पुलिस उन्हें जेल में डाल रही है। घोष ने आरोप लगाया, "टीएमसी दावा करती है कि देश भर में लोगों को जय श्री राम न बोलने पर पीट-पीट कर मार डाला जा रहा है। लेकिन सच्चाई यह है कि पश्चिम बंगाल में जय श्री राम बोलने पर लोगों पर हमला किया जा रहा है, मार डाला जा रहा है और जेलों में डाला जा रहा है।"

तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व ने बीजेपी के इस दावे को खारिज कर दिया है। पार्टी के ग्राम पंचायत प्रमुख, सिराजुल शेख ने कहा, "इस घटना का जय श्री राम बोलने से कोई लेना-देना नहीं है। जिस व्यक्ति के बारे में बीजेपी हो-हल्ला कर रही है उसने शराब पी रखी थी और उसने स्थानीय महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया, जिसके कारण स्थानीय निवासियों ने उसकी पिटाई की थी इस घटना से तृणमूल का कोई संबंध नहीं है। हालांकि, देबनाथ के खिलाफ पुलिस में ऐसी कोई शिकायत दर्ज नहीं है। बीजेपी का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस घटना पर पर्दा डालने के लिए झूठी कहानी गढ़ रही है।

Image Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top