News

नीतीश के बयान पर प्रशांत किशोर ने किया पलटवार, कही ये बड़ी बात

बिहार (Bihar) में इन दिनों सत्ताधारी जेडीयू (JDU) में सबुकछ ठीक नहीं चल रहा। सीएम (Chief Minister) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और पार्टी के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के बीच गहमा-गहमी बढ़ती ही जा रही है।

 Nitish Kumar, नीतीश कुमार

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(28 जनवरी): बिहार (Bihar) में इन दिनों सत्ताधारी जेडीयू (JDU) में सबुकछ ठीक नहीं चल रहा। सीएम (Chief Minister) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और पार्टी के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के बीच गहमा-गहमी बढ़ती ही जा रही है। बिहार (Bihar) के सीएम (Chief Minister) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने एक बार फिर प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) पर हमला बोला है। नीतीश कुमार ने उनकी पार्टी में ट्वीट का कोई मतलब नहीं है। अगर पार्टी में रहना है तो पार्टी लाइन में चलना पड़ेगा। उन्‍होंने कहा कि हमारी पार्टी में सब छोटे लोग हैं, ट्वीट कर के राजनीति नहीं होती है। सीएम नीतीश कुमार मंगलवार को पटना स्थित अपने आवास पर मीडिया से बात कर रहे थे। उधर, प्रशांत किशाेर ने भी सीएम नीतीश पर पलटवार किया है। ट्वीट कर प्रशांत किशोर ने कहा, पटना आकर नीतीश कुमार को जवाब दूंगा। समय पर सबकुछ बता दूंगा।

इधर, एक अणे मार्ग स्थित सीएम हाउस में नीतीश कुमार ने कहा कि हमने प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर पार्टी में लिया था। प्रशांत किशोर पॉलिटिकल स्‍ट्रेटजिस्‍ट हैं। उनहें कहीं और जाने का मन होगा। उन्‍हें जहां जाना है जाएं, कोई रोका नहीं है। उन्‍होंने कहा कि पार्टी में रहें तो ठीक, नहीं रहें तो ठीक। इस दौरान उन्‍होंने मीडिया से खुलकर बात की और जहानाबाद से गिरफ्तार देशद्रोह के आराेपी शरजील इमाम से लेकर एनपीआर और सीएए पर भी बात की। 

सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि हमारी पार्टी में ट्वीट का कोई मतलब नहीं है और ट्वीट से राजनीति नहीं होती है। उन्‍होंने यह भी कहा कि हमारी पार्टी में छोटे लोग हैं। वे सब ट्वीट की राजनीति नहीं करते हैं। पीके के नाम से राजनीति में फेमस प्रशांत किशोर पार्टी में रहेंगे या नहीं, इस सवाल को जब मीडिया ने पूछा तो सीएम नीतीश कुमार बोले यह बात आपलोग पीके से पूछ लीजिए कि उन्‍हें पार्टी में रहना है कि नहीं। अगर उन्‍हें पार्टी में रहना है तो पार्टी लाइन में रहें। पार्टी लाइन के खिलाफ न बोलें। हमारी पार्टी में ट्वीट की राजनीति नहीं चलेगी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्रशांत किशोर को उन्होंने अमित शाह के कहने पर ही जदयूू में शामिल कराया था। हो सकता है अब कहीं जाने का मन होगा। आम आदमी पार्टी के लिए भी काम कर रहे हैैं। वैसे जब तक इच्छा करे पार्टी में रहें। पीके द्वारा लगातार ट्वीट किए जाने पर चुटकी लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी साधारण लोगों की पार्टी है। ट्वीट का क्या है? जदयू इंटलैक्चुअल लोगों का दल नहीं है। प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में वशिष्‍ठ नारायण सिंह, आरसीपी सिंह समेत अनेक नेता मौजूद रहे। 

उधर, मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के बयान के बाद प्रशांत किशाेर ने ट्वीट कर पलटवार किया है। एएनआइ से बात करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि मैं बिहार आकर सभी सवालों का जवाब दे दूंगा। साथ ही प्रशांत किशोर ने ट्वीट भी किया है, जिसमें उन्‍होंने नीतीश कुमार को टैग करते हुए लिखा कि पता नहीं मुझे जदयू में ज्‍वाइन कराने को लेकर आप झूठ क्‍यों बोल रहे हैं। आपने अपने जैसा मुझे भी झूठा साबित कर दिया। आगे कहा है कि और अगर आप सच कह रहे हैं, तो आपको विश्वास होगा कि आपमें अभी भी हिम्मत है कि अमित शाह द्वारा सुझाए गए किसी व्यक्ति की बात न सुनें। प्रशांत किशोर ने इस ट्वीट को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी टैग किया है। 


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top