News

ईरानी कमांडर को कैसे मारा, ट्रंप ने बताया 2 मिनट 11 सेकेंड का पूरा वाकया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान की कुद्स फोर्स के जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के मिनट-टू-मिनट घटनाक्रम को बताते हुए खुलाया किया कि कब, कैसे और क्यों सुलेमानी को मारा गया है.रिपब्लिकन पार्टी को

Trump, ट्रंप

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(19 जनवरी): अमेरिका (America) के हमले में ईरानी (Irani) फोर्स (Force) के जनरल कासिम सुलेमानी (qassem Sulemani) की हत्या के बाद दोनों देशों के बीच इन दिनों सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। अमेरिका राष्ट्रपति (America President) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कासिम अली (qassem Sulemai) को की हत्या के मिनट-टू-मिनट घटनाक्रम को बताते हुए खुलाया किया कि कब, कैसे और क्यों सुलेमानी को मारा गया है। रिपब्लिकन पार्टी को चंदा जुटाने के लिए आयोजित एक डिनर कार्यक्रम में उन्होंने बताया कि ईरान के टॉप जनरल हमले से पहले देश के बारे में खराब बातें कर रहे थे। इसी वजह से उन्हें मारने का आदेश देना पड़ा, अमेरिकी न्यूज चैनल CNN ने ट्रंप की पार्टी के लिए फंड जुटाने वाले एक शख्स के बयान के हवाले से एक रिपोर्ट में कहा कि ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा, 'हम उन्हें और कितना बर्दाश्त करते?' हमने सुलेमानी पर हमले का पूरा दृश्य देखा था, उन्होंने फ्लोरिडा के पाम बिच पर एक क्लब में आयोजित समारोह में उस दृश्य का जिक्र भी किया।

ट्रंप के अनुसार यह ऑपरेशन दो मिनट 11 सेकेंड का था जिसकी उन्हें व्हाइट हाउस स्थित वॉल रूम में लाइव रिपोर्टिंग की जा रही थी। ट्रंप ने बताया, सेना के अधिकारी ने उन्हें बताया- वे (सुलेमानी और इराकी शिया मिलिशिया के उप प्रमुख) साथ हैं सर। ट्रंप ने कहा कि हमें सैन्य अधिकारी बता रहे थे कि सर, उनके पास 2 मिनट 11 सेकंड हैं। कोई भावना नहीं, 2 मिनट 11 सेकंड की जिंदगी बची है, सर वे कार में हैं और हथियारों से लैस वाहन में हैं। ट्रंप ने आगे कहा कि 30 सेकंड, दस, 9, 8, 7, 6...और अचानक हमला। सैन्य कार्रवाई को इस तरह से अमेरिका के किसी राष्ट्रपति ने पहली बार सार्वजनिक किया है।

हालांकि, इसके लिए उनकी आलोचना भी हो रही है, बता दें कि अमेरिका और ईरान में तनाव तब शुरू हुआ जब अमेरिकी सेना ने एक ड्रोन हमले में ईरान की कुद्स सेना के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी को बगदाद हवाई अड्डे के बाहर मार डाला था। इसके जवाब में ईरान ने इराक स्थित अमेरिका के दो एयरबेस पर मिसाइल से हमला किया, लेकिन इसी के कुछ घंटे बाद यूक्रेन के विमान के गिरने की खबर आई। ईरानी सरकार ने पहले तो इस हमले में शामिल होने से ना नुकुर किया, लेकिन बाद में अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद ईरान ने स्वीकार किया कि इस विमान को गलती से अमेरिकी मिसाइल समझकर ईरानी सेना ने मार गिराया है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top