News

केरल के कोट्टयम में मासूम बच्चों को हवस का शिकार बनाने वाला पादरी गिरफ्तार

दक्षिण भारत के अल्पसंख्यकों की शिक्षण संस्थाओं में बाल यौन शोषण के एक के बाद कई मामले सामने आये हैं। ऐसे ही एक मामले में केरल के कोच्चि स्थित एक बॉयज होम में रहने वाले बच्चों के साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने और उनका शोषण करने के आरोप में एक ईसाई पादरी को गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले कोट्टयम के ही एक मौलवी को बाल यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया गया था

 Accused of Minors Sex Abuse Fr George @Jerry

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (7 जुलाई): दक्षिण भारत के अल्पसंख्यकों की शिक्षण संस्थाओं में बाल यौन शोषण के एक के बाद कई मामले सामने आये हैं। ऐसे ही एक मामले में  केरल के कोच्चि स्थित एक बॉयज होम में रहने वाले बच्चों के साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने और उनका शोषण करने के आरोप में एक ईसाई पादरी को गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले कोट्टयम के ही एक मौलवी को बाल यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।  पल्लुरूथी के पादरी वाले मामले की जानकारी देते हुए एक  पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि संभावना है कि आरोपी पादरी को  स्थानीय मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। कोर्ट ने उसे । पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि बच्चों की मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद अगली कार्रवाई की जायेगी।

अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि पेरूम्पडम बॉयज होम के चालीस साल के  निदेशक जॉर्ज उर्फ जेरी को पीड़ित बच्चों के माता-पिता की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा, बच्चों के माता-पिता की शिकायत के आधार पर रविवार को उसकी गिरफ्तारी हुई। सात बच्चों के माता-पिता की शिकायत के अनुसार, पादरी काफी समय से बच्चों का यौन शोषण कर रहा था।

इससे पहले केरल के ही कोट्टायम में बच्चों से यौन शोषण के मामले में एक मदरसा अध्यापक को गिरफ्तार किया गया था। मदरसा अध्यापक पिछले 30 वर्षों से बच्चों का यौन शोषण कर रहा था। कोट्टायम में बच्चों से यौन शोषण के मामले ने पूरे सूबे को हिलाकर रख दिया था। इस मामले में 63 वर्षीय मदरसा अध्यापक को मासूम बच्चों के यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। आरोप लगा था कि मदरसे का टीचर 63 वर्षीय मौलाना युसूफ करीब 30 वर्षों से बच्चों का यौन शोषण कर रहा था। पुलिस से पूछताछ में आरोपी मौलान ने यह कबूल किया था कि जब वह 10 साल से कम उम्र के बच्चों को अपना शिकार बनाता था। केरल में इस तरह से अल्पसंख्यकों के शिक्षण संस्थानों में बच्चों के शोषण की वारदातों से अभिभावकों में खासा रोष व्याप्त है। वहीं केरल सरकार ने भी ऐसी घटनाओं पर चिंता व्यक्त की है।Images Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top