News

दया याचिका खारिज होने के 7 दिन बाद हो जानी चाहिए फांसी, SC में केंद्र सरकार की अर्जी

निर्भया मामले के गुनहगारों की फांसी में हो रही विलंब को देखते हुए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी दाखिल कर फांसी को लेकर निर्धारित गाइडलाइन में बदलाव की मांग की है। यह भी कहा गया है कि पुनर्विचार याचिका या भूल सुधार याचिका यानी क्यूरेटिव पेटिशन का प्रावधान नहीं होना चाहिए।

प्रभाकर मिश्रा, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जनवरी): निर्भया मामले के गुनहगारों की फांसी में हो रही विलंब को देखते हुए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी दाखिल कर फांसी को लेकर निर्धारित गाइडलाइन में बदलाव की मांग की है। सरकार ने अर्जी में कहा है कि मृत्युदंड के मामलों में सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन पीड़ित को राहत देने की बजाय दोषियों को ही राहत या विकल्प राहत के विकल्प मुहैया कराने पर फोकस रखती है।

केंद्र सरकार ने शत्रुघ्न चौहान मामले में फाँसी को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्धारित गाइडलाइन को चुनौती दी है जिसमें कहा गया है कि राष्ट्रपति के पास दायर दया याचिका के खारिज होने के 14 दिन के पहले दोषी को फांसी पर नहीं लटकाया जा सकता। सरकार ने कोर्ट से कहा है कि अगर किसी की दया याचिका खारिज हो जाती है तो उसे सात दिनों के अंदर फांसी दे दी जाए।

सरकार की याचिका में यह भी कहा गया है कि रिव्यू पटीशन खारिज होने के बाद एकनिर्धारित समय के भीतर क्यूरिटिव पटीशन दाखिल होनी चाहिए। याचिका के मुताबिक अगर कोई राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल करना चाहता है तो डेथ वारंट जारी होने के सात दिन के अंदर ही करने की अनुमति हो।

केंद्र सरकार ने ये भी मांग की है कि कोर्ट के साथ साथ राज्य सरकार और जेल अधिकारी को भी डेथ वारंट जारी करने का अधिकार दिया जाए। फिलहाल सिर्फ मजिस्ट्रेट ही डेथ वारंट जारी कर सकता है।

शत्रुघ्न चौहान के मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्धारित गाइडलाइन के चलते निर्भया के हत्यारों की फाँसी की तारीख टलती जा रही है। सुप्रीम कोर्ट अगर केंद्र सरकार की इस मांग को मान भी लेता है तो गाइडलाइन में बदलाव के बाद भी निर्भया के हत्यारों के मामले पर कोई असर नहीं पड़ेगा। लेकिन आने वाले समय में फाँसी के अन्य मामलों में अपराधी सुप्रीम कोर्ट के गाइड लाइन्स की आड़ में फाँसी के फंदे से बचने के लिए पुनर्विचार, क्यूरेटिव जैसे हथकंडे नहीं अपना पाएंगे।

Images Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top