News

दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में 82 विदेशी छात्रों की घुसपैठ!

कुछ वर्षों से देश की सुर्खियों में चल रहे दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) की कार्यप्रणाली पर एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है। सवाल ऐसा है, जिसने देश की सुरक्षा के ऊपर बहुत बड़ा सवाल खड़ा

Jnu, जेएनयू

केजे श्रीवत्सन, न्यूज 24 ब्यूरो, जयपुर(21 जनवरी): कुछ वर्षों से देश की सुर्खियों में चल रहे दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) की कार्यप्रणाली पर एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है। सवाल ऐसा है, जिसने देश की सुरक्षा के ऊपर बहुत बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। यूनिवर्सिटी (University) में 82 विदेशी छात्र ऐसे हैं, जिनकी राष्ट्रीयता का रिकॉर्ड प्रशासन (Administration) के पास नहीं है। यह छात्र किस देश से है इसका जवाब यूनिवर्सिटी (University) के पास नहीं है, यह छात्र यूनिवर्सिटी के 41 विभिन्न ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, पीएचडी, एम फील आदि पाठ्यक्रमों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। कोटा के सामाजिक कार्यकर्त्ता सुजीत स्वामी को सूचना के अधिकार के तहत दी गयी जानकारी में यह खुलासा हुआ है। 

सुजीत ने RTI दायर कर यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कुल विदेशी छात्रों की संख्या किस कोर्स में पंजीकृत हुए हैं एवं किस देश के कितने छात्र हैं की सूचना मांगी थी, जिसके जवाब में यूनिवर्सिटी ने बताया की  विदेशी छात्र सूचि जो की वर्तमान के मानसून 2019 और शरद 2020 सत्र में दर्ज हुई है, में 301 है। यह 301 विदेशी छात्र यूनिवर्सिटी के 78 विभिन्न पाठ्यकर्मो में पढ़ रहे हैं। सुचना में बताया गया की इन 301 छात्रों में से 219 छात्र तो 47 अलग-अलग देशो से आये है, जिनमे कोरिया, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, सीरिया,चीन,जर्मनी, नेपाल आदि है, लेकिन 82 छात्र ऐसे हैं जिनकी राष्ट्रीयता के नाम पर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने "रिकॉर्ड नॉट अवेलबल बताया है। 

राष्ट्रीयता की  सूचना उपलब्ध नहीं है। यह 82 विद्यार्थी किस-किस पाठ्यक्रम में पढ़ रहे हैं इसकी सुचना भी प्रशासन के पास है, लेकिन इनकी राष्ट्रीयता का कोई रिकॉर्ड नहीं है। यह 82 छात्र यूनिवर्सिटी के विभिन्न 41 पाठ्यकर्मो में पढ़ रहे हैं, जिसमें सबसे ज्यादा 9 विद्यार्थी एमए सोशियोलॉजी में पढ़ रहे हैं। यूनिवर्सिटी में 301 विदेशी छात्रों के आकड़ों में सबसे ज्यादा 82 छात्र ऐसे हैं, जिसकी राष्ट्रीयता का रिकॉर्ड नहीं है, जबकि उसके बाद दूसरे नंबर पर कोरिया के छात्र है जो की संख्या में 35 है, ऐसे ही नेपाल से 25, चीन से 24, अफगानिस्तान से 21 सीरिया से 7, बांग्लादेश से 8  एवं विभिन्न देशो के छात्र अध्ययनरत है।

इसके अलावा सुजीत ने यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कुल छात्रों की संख्या प्रोग्राम अनुसार भी जाननी चाही थी जिसमे भी बड़ी बात निकल कर सामने आयी की यूनिवर्सिटी में अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम में पढ़ने वाले छात्रों का प्रतिशत कुल पढ़ने वाले छात्रों के प्रतिशत से बहुत ही कम है। यूनिवर्सिटी में सभी पांचो प्रोग्राम (एम् फ़िल / पीएचडी, पोस्ट ग्रेजुएट, अंडर ग्रेजुएट, पार्ट-टाइम, एम्.टेक/ एम् पि एच) के विद्यार्थियों की कुल संख्या 8805 है जिसमे से मात्र 1264 विद्यार्थी ही अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम में अध्यनरत है, जो की कुल छात्रों की संख्या का मात्र 14.35% है, जबकि सबसे ज्यादा एम् फ़िल/पीएचडी प्रोग्राम में अध्यनरत है। एमफ़िल/पीएचडी में 4251 विद्यार्थी अध्यनरत है जो की कुल छात्रों की संख्या का 48.27% है जबकि पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम में 2877, पार्ट टाइम प्रोग्राम में 282 एवं एम टेक/एम पि एच में 131 विद्यार्थी अध्यनरत है।

सामाजिक कार्यकर्त्ता सुजीत स्वामी का कहना है की उनका इस तरह के डाटा लेने के पीछे का उद्देश्य देश की प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी JNU में पढ़ने वाले बाहरी विद्यार्थियों की संख्या,किस देश से कितने विद्यार्थी आये है एवं ग्रेजुएट कोर्स में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की संख्या जानना था। JNU में साल से से फ्री कश्मीर के नारे, आजादी और देश विरोधी गतिविधिया हो रही हैं, जिसमें छात्रों का शामिल होना चिंताजक है, लेकिन जब यह डाटा सामने आये तो यह चिंता का विषय यह है की कौन है यह 82 विदेशी छात्र जो किस देश के नागरिक है,  का रिकॉर्ड प्रशासन के पास उपलब्ध नहीं है ? ये कैसे एवं क्यों आये है किस मकसद से आये है? इसके अलावा अंडर ग्रेजुएट एवं एम् फ़िल/पीएचडी प्रोग्राम में पढ़ने वाले विद्यार्थीयो की संख्या भी चिंताजनक है। यदि यूनिवर्सिटी में एम् फ़िल/पीएचडी करने वालो की संख्या निश्चित कर दी जाये तो शिक्षा का वातावरण अच्छा बनेगा, अभी के समय में ऐसा प्रतीत होता है की एम फिल/पीएचडी में दाखिला लेकर सस्ते में यह कुछ लोग अपनी राजनीती चमका रहे है।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top