News

महाराष्ट्र के स्कूलों में 26 जनवरी से प्रार्थना के बाद संविधान की प्रस्तावना जरूरी

सीएए को महाराष्ट्र में लागू करने से इंकार करने वाली उद्धव सरकार ने बीजेपी के जख्मों पर एक बार फिर नमक छिड़क दिया है। उद्धव सरकार ने एक सर्कुलर जारी करके प्रदेश के सभी स्कूलों में मॉर्निंग असेंबली में संविधान की प्रस्तावना दोहराना अनिवार्य कर दिया है।

Constitution, Preamble, Maharashtra, School, Compulsory, Uddhav, Govt

अविनाश पाण्डेय, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जनवरी): सीएए को महाराष्ट्र में लागू करने से इंकार करने वाली उद्धव सरकार ने बीजेपी के जख्मों पर एक बार फिर नमक छिड़क दिया है। उद्धव सरकार ने एक सर्कुलर जारी करके प्रदेश के सभी स्कूलों में मॉर्निंग असेंबली में संविधान की प्रस्तावना दोहराना अनिवार्य कर दिया है।

महाराष्ट्र सरकार में स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने यह जानकारी देते हुए बताया कि स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना सुबह की प्रार्थना के साथ दोहराना अनिवार्य कर दिया गया है। राज्य सरकार की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि संविधान की प्रस्तावना पढ़ना ‘संविधान की स्वायत्ता, सभी का कल्याण’ अभियान का हिस्सा है।स्कूली शिक्षामंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा, ‘छात्र संविधान की प्रस्तावना पढ़ेंगे ताकि इसकी महत्ता के बारे में उन्हें पता चले। यह सरकार का एक पुराना प्रस्ताव है लेकिन इसे हम 26 जनवरी से लागू करने जा रहे हैं।

वर्षा गायकवाड़ ने बताया कि सभी छात्र हर दिन सुबह की प्रार्थना के बाद संविधान की प्रस्तावना पढ़ेंगे। संविधान की प्रस्तावना पढ़ने को लेकर कांग्रेस-एनसीपी की सरकार ने फरवरी 2013 में एक सरकारी प्रस्ताव पेश किया था। 2014 में चुनाव बाद बीजेपी सरकार सत्ता में आयी और प्रस्ताव ठण्डे बस्ते में चला गया। शिवसेना के साथ सत्ता में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने पुराने प्रस्ताव पर नया आदेश जारी करवाया और स्कूलों में संविधान की भूमिका दोहराना अनिवार्य कर दिया।

संविधान की प्रस्तावना पढ़ने से संबंधित यह कदम उस वक्त उठाया जा रहा है जब पूरे देश में सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं और लोग जगह-जगह पर संविधान की प्रस्तावना पढ़ रहे हैं।

शिवसेना के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में कांग्रेस-एनसीपी उसके सहयोगी दल है और कई कांग्रेसी नेताओं ने सीएए को गैर-संविधानिक बताया है। उन नेताओं ने महाराष्ट्र में इस कानून को लागू नहीं होने देने की बात भी कही है।

Images Courtesy: Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top