News

CAA का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी और पुलिस में झड़प, कई पुलिसवाले घायल

CAA, NRC और NPR के मुद्दे पर देश में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। चेन्नई में हो रहे इसी तरह के एक प्रदर्शन पर हंगामा हो गया। मेट्रो स्टेशन के पास बड़ी संख्या में लोगों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने कार्रवाई की और प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया।

नई दिल्ली, 15 फरवरी: CAA, NRC और NPR के मुद्दे पर देश में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। चेन्नई में हो रहे इसी तरह के एक प्रदर्शन पर हंगामा हो गया। मेट्रो स्टेशन के पास बड़ी संख्या में लोगों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने कार्रवाई की और प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया, लेकिन बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया।

मामला तब भड़क गया जब पुलिस ने प्रदर्शनस्थल से कुछ लोगों को जबरन हटाया। इसके बाद प्रदर्शनकारी और पुलिस में भिड़ंत हो गई। यहां जमे लोगों को हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों ने पथराव करके चार पुलिसवालों को जख्मी कर दिया है। इनमें एक महिला डिप्टी कमिश्नर, दो महिला अधिकारी और एक सब-इंस्पेक्टर शामिल हैं। वहीं प्रदर्शनकारियों का भी कहना है कि पुलिस की कार्रवाई में उनके कुछ लोग जख्मी हुए हैं।

अमित शाह से मिलेंगे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी

न्‍यूज 24 को मिली जानकारी के अनुसार, अमित शाह से न्‍योते के बाद प्रदर्शनकारियों ने मांग की थी कि प्रधानमंत्री उनसे आकर मिले, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके साथ ही केंद्र सरकार की तरफ से कोई यहां पर नहीं आया और ना ही शाहीन बाग से कोई प्रतिनिधिमंडल केंद्र सरकार के पास गया। अब बताया जा रहा है कि शाहीन बाग में जितने भी प्रदर्शनकारी बैठे हैं, वह अमित शाह की बात को आधार बनाकर उनसे मुलाकात करने के लिए जाएंगे। अभी तक प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, यह एक रैली की शक्ल में होगा, उसके बाद ही यह तय किया जाएगा कि आगे क्‍या होगा। हालांकि अभी तक दिल्‍ली पुलिस और केंद्र सरकार की तरफ से इस बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

प्रदर्शनकारियों की अलग-अलग राय

गृह मंत्री अमित शाह से मिलने की खबर पर शाहीन बाग में धरने पर बैठे महिलाएं और पुरुषों की अलग-अलग राय है। कुछ महिलाओं का कहना है कि हम लोग गृहमंत्री के आवास के सामने पहुचेंगे तो उनको माइक लेकर सभी से बात करनी चाहिए। वहीं कुछ महिलाओं का कहना है कि सैकड़ों लोगों से तो अमित शाह मिल नहीं पाएंगे तो उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करनी चाहिए। लेकिन धरने पर बैठी दादियों ने अपना रुख साफ करते हुए कहा कि जब तक सरकार का कोई भी प्रतिनिधिमंडल उन्हें बुलाने के लिए नहीं आएगा वह नहीं जाएगी।

आपको बता दें कि गुरुवार को ही गृहमंत्री अमित शाह ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को मिलने का न्योता दिया था, जिसके बाद आज इन प्रदर्शनाकिरयों ने अमित शाह से मिलने का फैसला किया है। अमित शाह ने कहा था, ''मैं कहना चाहता हूं कि जिस किसी को भी नागरिकता कानून को लेकर दिक्कत है, वो मेरे ऑफिस में बात करके समय लें। समय लेने के तीन दिन के भीतर मैं उनसे मिलूंगा और इस मुद्दे पर बातचीत करुंगा।''


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top