News

क्रिकेट का अब तक का सबसे अनोखा रिकॉर्ड- 1 ओवर में बने 77 रन !

नई दिल्ली (14 जनवरी): अगर किसी भी क्रिकेट प्रेमी से पूछा जाये कि एक ओवर में सबसे ज्यादा किसने बनाये और कितने रन बनाये तो सबसे पहला जवाव मिलेगा युवराज ने टी-20 मैच में स्टुवर्ट ब्रॉड के एक ओवर में 36, दूसरा जवाब रवि शास्त्री एक ओवर में छह छक्के और तीसरा नाम गैरी सोबर्स का भी सुनने को मिल सकता है...एक ओवर में 77 रन कभी सुने हैं आपने.... जी हां एक ओवर में 77 रन...!  बात फरवरी 1990 की है, शेल ट्रॉफी का फाइनल डे का मैच था। टेस्ट मैच के अंतिम दिन की सुबह वेलिंग्टन ने अपनी पारी की समाप्ति की घोषणा कर दी थी। कैंटरबरी को जीत के लिए 291 रनों की जरूरत थी और उसके पास 59 ओवर थे। इनिंग की शुरुआत में ही कैंटरबरी को झटके लगे। पारी  लड़खड़ा गई थी। कुल 196 रन पर आठ विकेट गिर चुके थे। लेकिन ली जर्मन और रोजर फोर्ड ने पारी को संभाला और वेलिंग्टन को लगने लगा कि मैच अब ड्रा की ओर जा रहा है।

 लीजर्मन, अच्छे विकेटकीपर जरूर थे मगर अच्छे बल्लेबाज नहीं थे। वो ही स्ट्राइकिंग एंड पर थे। ऐसे में वेलिंग्टन के मॉरिसन की राय पर  विकेटकीपर-कप्तान मैकस्वीने, बर्ट वैंस के हाथ में बॉल थमा दी। बर्ट ने इससे पहले कभी गेंदबाजी नहीं की थी। उन्हें गेंदबाजी का अनुभव भी नहीं था। वे अपनी टीम के बैट्समैन थे और उनका करियर समाप्ति की ओर था। कहा जाता है कि योजना यह थी कि विपक्षी टीम को रन बनाने के लिए उकसाया जाए और ऐसे में विकेट लेकर जमी जोड़ी को तोड़ा जाए और जीत का लक्ष्य हासिल किया जाए। बर्ट ने कप्तान की योजना का साथ दिया और गेंदबाजी को तैयार हो गए। कहा यह भी गया कि योजना के अनुसार विपक्षी टीम को रन बनाने का मौका दिया जाए ताकि वे जीत के लक्ष्य के करीब पहुंच सकें और जीतने की चाहत में अंतिम दो विकेट गंवा दें और मैच वेलिंग्टन के पक्ष में चला जाए। बर्ट को सेकेंड लास्ट ओवर दिया गया था।

तब कैंटरबरी को जीत के लिए 96 रनों की जरूरत थी और गेंदें थी मात्र 12... जर्मन इस समय 75 नाबाद रन पर खेल रहे थे। टीम ने 196 रन बना लिए थे और आठ विकेट जा चुके थे। बर्ट ने एक ओवर में  सत्रह गेंद फेंकी , एक सही  और 16 नो बॉल रहीं। कई फुलटॉस बॉल भी डालीं। मॉरिसन कहते हैं कि बर्ट ने कुछ ज्यादा ही कर दिया था। मामला यही नहीं था, फील्डर भी सुस्त मोड में आ गए थे और कई बॉउंड्री गईं। छठी नो बॉल पर ली जर्मन ने अपना शतक पूरा किया और इस ओवर कुल 77 रन बने। इसमें तीन सिंगल्स के अलावा आठ छक्के और छह चौके शामिल हैं। जर्मन ने इस ओवर में 70 रन बनाए और फोर्ड ने दो गेंदों का सामना कर पांच रन बनाए थे। इस ओवर में सिर्फ दो नो बॉल एसी रहीं जिन पर रन नहीं बने। स्थिति कुछ सामान्य हुई जब अंतिम ओवर फेंकने के लिए इवान ग्रे आए और तब तक कैंटरबरी को जीत के लिए 18 रनों की जरूरत थी और जर्मन ने पहली पांच गेंदों पर 17 रन बनाकर मैच बराबरी पर ला दिया। ये मैच ड्रा हुआ।

 


Related Story

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top