News

भारतीय वायुसेना खरीदने जा रही है 200 नये लड़ाकू जहाज, तेजस के कॉन्टैक्ट पर भी मुहर

एयरफोर्स में कम होते लड़ाकू विमानों को देखते हुए सरकार 200 फाइटर जेट्स खरीदने वाली है। रक्षा सचिव अजय कुमार ने कोलकाता में रविवार को कहा कि एयरफोर्स में लगातार कम होते फाइटर जेट्स की समस्या से निपटने के लिए यह कदम उठाया गया है।

Ministry, Acquires 200-Fighters, Air Force, Defence Secretary

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 जनवरी): एयरफोर्स में कम होते लड़ाकू विमानों को देखते हुए सरकार 200 फाइटर जेट्स खरीदने वाली है। रक्षा सचिव अजय कुमार ने कोलकाता में रविवार को कहा कि एयरफोर्स में लगातार कम होते फाइटर जेट्स की समस्या से निपटने के लिए यह कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान ऐरोनॉटिकल्स लिमिटेड की ओर से तैयार किए जा रहे 83 तेजस लड़ाकू विमानों का कॉन्ट्रैक्ट आखिरी राउंड में है, हालांकि खरीदारी पर मुहर लग चुकी है।

रक्षा सचिव अजय कुमार ने कहा कि इन 83 लड़ाकू विमानों के अलावा 110 अन्य के लिए प्रस्ताव मांगे गए हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह से कुल 200 लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए प्रक्रिया चल रही है। रक्षा सचिव ने कहा कि हम 83 तेजस लड़ाकू विमानों के कॉन्ट्रैक्ट को जल्द ही फाइनल कर देंगे। इससे भारत को अपनी हवाई सुरक्षा के लिए तत्काल जरूरी लड़ाकू विमान मिल सकेंगे।

तेजस फाइटर जेट्स को एयरफोर्स में शामिल किए जाने की समयसीमा पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम इस प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करना चाहते हैं। इसके साथ ही उन्होंने आउटसोर्सिंग की भी बात कही। बता दें कि मौजूदा वक्त में एयरफोर्स के बेड़े में मिराज 2000, सुखोई 30 एमकेआई और मिग-29 जैसे लड़ाकू विमान हैं। इसके अलावा जगुआर और मिग 21 बाइसन भी हैं, जो काफी पुराने हो गए हैं।

हाल ही में जोधपुर एयरबेस पर करीब 4 दशकों तक सेवा देने के बाद मिग-27 फाइटर जेट्स ने आखिरी उड़ान भरी थी। इन विमानों ने करगिल युद्ध के दौरान अहम भूमिका अदा की थी और पाकिस्तान के ठिकानों पर चुन-चुनकर बम बरसाते हुए उसके खतरनाक मंसूबों को नेस्तनाबूद किया था। ध्यान रहे, हलके लड़ाकू विमान तेजस की बीते दिन शनिवार  को आईएनएस विक्रमादित्य सफल  अरैस्ट लैंडिग के बाद एक इतिहास रचा गया है। इससे पहले वायुसेना में तेजस को शामिल किया ही जा चुका है। तेजस को भारतीय सैन्य आवश्यकताओं के अनुरूप बनाया गया है। इसमें किसी भी देश की सेना की आवश्यकताओं के अनुरूप बदलाव किया जा सकता है। यानी तेजस को 'कस्टमाइज' भी किया जा सकता है। इसलिए कई देशों की सेनाओं ने तेजस में रुचि भी दिखाई है।

Images Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top