अरनिया में गोलीबारी पर भड़की महबूबा मुफ्ती, कहा- पाकिस्तान को रमजान का भी नहीं है सम्मान

श्रीनगर (18 मई): पाक महीने रमजान के सम्मान में भारत ने सरहद पर सीजफायर का ऐलान किया। लेकिन पाकिस्तान रमजान के मौके पर भारत की पहल को घता बताते हुए सरहद पर एकबार फिर सीजफायर का तोड़ते हुए अरनिया सेक्टर में जमकर गोलीबारी की है। पाकिस्तान की इस नापाक हरकत में भारत का एक जवान शहीद हो गया है। पाकिस्तान की इस शैतानी हरकत से जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती बेहद खफा नजर आ रही है। पाक की इस शैतानी हरकत पर महबूबा ने कहा कि पाकिस्तान को रमजान का भी सम्मान नहीं है।महबूबा मुफ्ती ने इस सिलसिले में ट्वीट करते हुए कहा है कि ''पाकिस्तान को भी कदम उठाकर इसका सकारात्मक जवाब देना होगा और दीर्घकालिक शांति के प्रयासों में योगदान करना होगा।" महबूबा ने कहा कि जम्मू में सीमा पर गोलीबारी जारी रहना पीड़ा और चिंता का विषय है। उन्होंने ट्वीट किया,''दुख की बात है कि हमारे देश ने रमजान के दौरान अभियान रोककर शांति पहल शुरू करने में बढ़त हासिल की लेकिन पाकिस्तान ने इस पवित्र महीने के प्रति कोई सम्मान नहीं दिखाया।'' 

पाकिस्तानी रेंजर्स की ओर से जम्मू जिले के आरएसपुरा, अरनिया, सुचेतगढ़ और बिशनाह सेक्टरों में शुक्रवार को दिन में नागरिक क्षेत्रों को निशाना बनाकर की गई गोलीबारी और गोलाबारी में चार नागरिक मारे गए और बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया। इसमें 12 लोग घायल हुए हैं।