Blog single photo

बिहार में एक साथ आए तेजस्वी, कांग्रेस, मांझी और कुशवाहा

मोदी सरकार को 2019 में टक्कर देने के लिए कांग्रेस, आरजेडी, जीतन राम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा एक साथ आ गए हैं। दिल्ली में कांग्रेस दफ्तर में इस गठबंधन का ऐलान हुआ, जिसमें तेजस्वी ने गठबंधन में

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 दिसंबर): मोदी सरकार को 2019 में टक्कर देने के लिए कांग्रेस, आरजेडी, जीतन राम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा एक साथ आ गए हैं। दिल्ली में कांग्रेस दफ्तर में इस महागठबंधन का ऐलान हुआ, जिसमें तेजस्वी ने गठबंधन में कुशवाहा का स्वागत करते हुए कहा कि ये संविधान बचाने की लड़ाई है। इसी के साथ कांग्रेस ने कहा कि सीटों के बंटवारे को लेकर कोई दिक्कत नहीं होगी और सही वक्त आने पर सीटों का बंटवारा प्यार से हो जाएगा।

तेजस्वी ने प्रेस कांफ्रेस करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि हमारी लड़ाई जनता को गुमराह करने वालों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि देश में अघोषित आपातकाल के खिलाफ और चाचा नीतीश कुमार को सबक सिखाने के लिए यह प्रदेश की जनता के दिल से निकला गठबंधन है। जनता ने मूड बना लिया है कि जिन्होंने जनता को ठगा है उसे अब वे करारा जवाब करेंगे। अब पूरे देश में महागठबंधन पर बात हो रही है और सभी के द्वारा संविधान को बचाने के लिए साथ आने के प्रयास होने लगे हैं।

हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इस गठबंधन के बाद बिहार में कांग्रेस को 8-12 सीट मिल सकती हैं। आरजेडी के खाते में सबसे ज्यादा 18-20 सीट आ सकती हैं। उपेन्द्र कुशवाहा की आरएलएसपी 4-5 सीटों पर दावेदारी करेगी। कुशवाहा की काराकाट, सीतामढ़ी, जहानाबाद, मोतिहारी, गोपालगंज, मुंगेर और चतरा की सीटों पर दावेदारी है। लेफ्ट को 1 सीट दी जा सकती है। जीतन राम मांझी की पार्टी को 1-2 सीट और शरद यादव की पार्टी को 1-2 सीट मिल सकती हैं।

महागठबंधन में शामिल होने के बाद उपेन्द्र कुशवाह ने कहा, 'हमारी पार्टी आज से विधिवत यूपीए के साथ एक हो रही है, मैं लालू यादव, राहुल गांधी और सभी पार्टियों के प्रति आदार प्रकट करता हूं, एकतरफ मेरा अपमान हो रहा था, ऐसा लग रहा था जैसे ये लोग पहले से ही मेरा बांहे फैला कर इंतेजार कर रहे हों।' उन्होंने कहा, 'दूसरे राज्यों में जाते हैं कमाई करने के लिए और अपमानित महसूस करते हैं, लोगों से उस समय मोदी जी ने वादा किया था की पढ़ाई, कमाई के लिए किसी को बाहर नहीं जाना पड़ेगा लेकिन उन वादों का क्या हुआ आप देख ही रहे हैं।'

Tags :

NEXT STORY
Top