भारत ने इमरान को लताड़ा, मसूद लेता है हमले की जिम्मेदारी, पाक मांगता है सबूत

Photo: Google 


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 फरवरी): 
पुलवामा हमले के बाद पहली बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मीडिया के सामने आए और सफाई देने में जुट गए। हालांकि उनके बयानों को देखकर साफ लग रहा था कि वह एक रटा-रटाया भाषण दे रहे थे। इमरान पर पलटवार करते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने साफ कर दिया कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद का खात्मा नहीं करेगा, उससे कोई बात नहीं होगी। इसी के साथ इमरान के सबूत देने के बयान पर भी भारत ने करारा जवाब दिया है।

भारत ने साफ कहा है कि इमरान को पुलवामा हमले के क्या सबूत चाहिए। उनको पता होना चाहिए कि हमले के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने खुद वीडियो जारी करके इसकी जिम्मेदारी ली थी। जैश-ए-मोहम्मद वह आतंकी ग्रुप है, जिसका मुखिया मसूद अजहर है और वह पाकिस्तान में खुलेआम घुमता है। इमरान पुलवामा हमले में हमसे सबूत मांगते हैं, लेकिन एक बार भी जैश-ए-मोहम्मद का नाम नहीं लेते। क्या उनको पता नहीं कि जैश पाकिस्तान में बैठकर आतंकियों को पैदा कर रहा है। इमरान खुद बताएं कि वह जैश-ए-मोहम्मद के खिलााफ क्या कर रहे हैं।

इसी के साथ भारत ने कहा कि हमने 26/11 के सबूत पाकिस्तान को दिए थे, लेकिन उनपर 10 साल के बाद कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद मोदी सरकार ने पठानकोट हमले में भी पाक सरकार को सबूत दिए और वहां की जांच एजेंसियों को भी बुलाया। इस मामले में भी पाकिस्तान ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया। पाकिस्तान बार-बार सबूत की मांग करता है, लेकिन आतंक और आतंकियों के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाता। पाकिस्तान इस तरह की बात करके सिर्फ गोल-गोल घुमाने की कोशिश करता है।

आपको बता दें कि इमरान खान ने पुलवामा हमले के 5 दिन बाद भारत पर उकसावे का आरोप लगाते हुए यह कहा कि अगर भारत सबूत दे तो वह आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई करने में मदद करेगा।