इलाहाबाद: कुंभ मेले को लेकर रेलवे की तैयारी पूरी, खर्च हुए 700 करोड़

न्यूज 24 ब्यूरो, कुंदन सिंह, नई दिल्ली (12 दिसंबर): उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में होने वाले कुंभ को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। मेले के आयोजन में सरकार की अलग-अलग एजेंसियों के माध्यम से करीब 4000 करोड़ रुपये का खर्च किया जा रहा है, जिसमें रेलवे करीब 700 करोड़ रुपये की लागत से चल रही परियोजना को पूरा किया है। इसकी शुभारंभ आगामी 16 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे।

भारतीय रेलवे की तैयारियों की बात करे तो रेलवे के तीन उत्तर, उत्तर मध्य और उत्तर पूर्व रेलवे ने प्रयागराज शहर के आपपास के 10 छोटे बड़े स्टेशनों पर मिलाकर 700 करोड़ रुपये का निर्माण का कार्य किया है। इसके साथ ही कुंभ के 45 दिनों के दौरान 800 स्पेशल ट्रेन चलाएगा। उत्तर मध्य रेलवे के महानिदेशक राजीव चौधरी ने न्यूज24 को बताया कि यात्री सुविधा के लिए स्टेशनों के बाहर वेटिंग एरिया से लेकर प्लेट फ्रॉम पर आने-जाने के लिए वन-वे व्यवस्था किया जाएगा, जिससे यात्रियों का संचालन सही तरिके के हो सके।

शहर के 10 स्टेशनों की व्यवस्था चाक चौबंद किया गया हैं, जहां इन्फोटेन्मेंट से लेकर मेडिकल तक की सुविधा रहेगी। स्टेशन परिसर से ही कुंभ मेले का लाइव टेलीकास्ट करने की व्यस्था रहेगी। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए इलाहाबाद जंक्शन, सूबेदारगंज, प्रयाग राज और इलाहाबाद सिटी स्टेशन परिसर में 4 फुट ओवर ब्रिज बनाया गया है। इलाहाबाद जंक्शन में 6 नंबर प्लेटफार्म नया बनाया गया है ताकि तीर्थयात्रियों के लिए विशेष ट्रेन को चलाया जा सके।

इस मौके पर चलाई जाने वाली विशेष ट्रेनों की साफ-सफाई के लिए इलाहबाद और कानपुर में 2 वाशिंग सेन्टर बनाया गया है। स्नान के दौरान भीड़ पर नियंत्रण के लिए सिविल एडमिनिस्ट्रेशन के साथ रेलवे बेहतर तालमेल कर काम करेगी, इसकी व्यवस्था की गई है। सभी स्टेशनों में बड़े पैमाने पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए है। इसके अलावा रेलवे के द्वारा "कुंभ रेल सेवा 2019" नाम से एक मोबाइल एप भी लांच किया है। एप अंग्रेजी और हिंदी में उपलब्ध होगा। यह एप आईओएस और एंड्राइड में काम करेगा। इसमें यात्री को कौन सी ट्रेन कहां से चलेगी, इसकी जानकारी मिलेगी। साथ ही अनारक्षित और आरक्षित टिकट की बुकिंग हो पाएगी।

इस एप पर मेला स्पेशल ट्रेन की पूरी जानकारी कौन सी ट्रेन किस प्लेटफार्म से खुलेगी, कहां-कहां रुकेगी इसकी भी जानकारी मिलेगी। साथ ही जरूरत पड़ने पर आरपीएफ से संपर्क किया जा सकेगा। यात्रियों के लिए होटल और गेस्ट हाउस की जानकारी इस एप पर उपलब्ध होगी। इसके अलावा पूरे मेले के दौरान मेला सेवक हैंड हेल्ड मशीन से चलते-फिरते टिकट उपलब्ध कराएंगे ताकि जो जहां है उसे वहीं टिकट मिल जाए। कुंभ मेले में आने वाले विदेशी मेहमानों के लिए 4 विशेष ट्रेन चलाई जाएगी।