कर्नाटक में येदियुरप्पा की सरकार को अखिलेश ने बताया लोकतंत्र की हत्या

लखनऊ (17 मई): भले ही बीजेपी कर्नाटक की सत्ता पर काबिज हो गई लेकिन उनके कर्नाटक में सरकार बनने के फैसले के खिलाफ कांग्रेस, जेडीएस समेत तमाम विपक्षी पार्टियों ने मोर्चा खोल दिया है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती के बात अब समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कर्नाटक में बीजेपी के सरकार बनाने के फैसले की आलोचना की है। अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा है कि अखिलेश यादव ने नाम लिए बगैर येदियुरप्पा के शपथ को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। साथ ही उन्होंने कर्नाटक के ताजा घटनाक्रम को इशारों में इसे सत्ता की हनक और जमीर की मंडी सजाने जैसी संज्ञा दी है। अखिलेश ने लिखा है कि, आज फिर लोकतंत्र की शपथ ली जाएगी। आज फिर एक बार और हत्या की जाएगी। आज फिर सत्ता की हनक दिखाई जाएगी। आज फिर ज़मीर की मंडी सजाई जायेगी। आज फिर आजादी थोड़ी और मर जायेगी।

गौरतलब है कि कर्नाटक में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। ऐसे में प्रदेश की 224 सदस्यीय विधानसभा में 222 सीटों पर हुए चुनाव में बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस+ को 38 सीटें मिली हैं। फिलहाल, बहुमत के लिए जादुई आंकड़ा 112 है।आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार देर रात हुई सुनवाई में येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। राज्यपाल वजुभाई वाला ने कल येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता दिया था। इसके बाद रात में ही कांग्रेस ने शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया था। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने राज्यपाल पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि 'उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के दखल से संविधान का 'एनकाउंटर' किया है।'