Blog single photo

कैराना उपचुनावः बीजेपी ने झोंकी ताकत

कर्नाटक के बाद अब सबकी नज़रें कैराना के लोकसभा उपचुनाव पर हैं। 28 मई को कैराना लोकसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं। जहां बीजेपी के खिलाफ विपक्षी एकता की अग्नि परीक्षा होगी।

कैराना (22 मई): कर्नाटक के बाद अब सबकी नज़रें कैराना के लोकसभा उपचुनाव पर हैं। 28 मई को कैराना लोकसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं। 31 तारीख को नतीजे आएंगे। जहां बीजेपी के खिलाफ विपक्षी एकता की अग्नि परीक्षा होगी। बीजेपी सांसद हुकुम सिंह के निधन के बाद यहां चुनाव हो रहा है। बीजेपी ने इस चुनाव में हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को टिकट दी है। उनका मुकाबला विपक्ष की संयुक्त उम्मीदवार RLD की तबस्सुम से है जिनको बीएसपी, एसपी और कांग्रेस का समर्थन हासिल है।कर्नाटक में सरकार बनाने से महरूम बीजेपी ने कैराना उपचुनाव के लिए कमर कस ली है। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चुनाव प्रचार करने कैराना जा रहे हैं। गोरखपुर और फूलपुर चुनाव हारने के बाद बीजेपी के लिए करो या मरो जैसे हालात हैं। इसलिए योगी पार्टी कैराना चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। 27 मई को यानी वोटिंग से एक दिन पहले पीएम मोदी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे NH-9 और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे  के पहले फेज का उद्घाटन करेंगे। वहीं समाजवादी पार्टी के कई नेताओं ने भी कैराना में डेरा डाल दिया है।कैराना लोकसभा सीट पर उपचुनाव के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। अर्धसैनिक बलों की 25 कंपनियां तैनात की जाएंगी। जिले के हरियाणा की सीमा से लगे क्षेत्रों में गश्त और जांच का काम शुरू कर दिया गया है। साथ ही कैराना में कम से कम ऐसे 20 सीमावर्ती गांव चिह्नित किए गए हैं जहां ड्रोन कैमरों से नजर रखी जाएगी।

Tags :

NEXT STORY
Top