झारखंड: 24 घंटे में 'मॉब लिचिंग' की दो वारदात, एक की मौत

अरुण तिवारी, न्यूज 24 ब्यूरो, धनबाद (7 सितंबर): पिछले 24 घंटे के भीतर देश की कोयला राजधानी पर दो कलंक लग चुके हैं। पहली वारदात को धनबाद के निरसा में अंजाम दिया गया, जबकि दूसरी वारदात गैंग्स के इलाके वासेपुर में देखी गई। इन दोनों वारदातों में भीड़ और पीड़ित का चेहरा भले ही अलग था, लेकिन आरोप एक ही था 'बच्चा चोर' का। इन दोनों ही घटनाओं में भीड़ का क्रूर चेहरा दिखा, जिसने दो अलग-अलग लोगों का खून बहाया। एक को तो भीड़ ने पीट-पीट कर मार ही डाला।

पहली वारदात गवाह बना धनबाद का निरसा थाना क्षेत्र का श्यामपुर पहाड़ी। समय रात के लगभग 2 बजे। यहां एक व्यक्ति को 3 घंटो तक बांध कर जानवरों से भी बूरी तरह पीटा गया। इसके बाद सुबह 5 बजे घटना सथल पर पुलिस पहुंची और उस लहूलुहान व्यक्ति को भीड़ से मुक्त कराकर पीएमसीएच में भर्ती कराया, लेकिन इलाज से पहले ही उसने दम तोड़ दिया।

दरअसल इसपर वहीं के रहने वाले एक परिवार ने आरोप लगाया था कि यह लोगों के घरों में ताक-झांक कर रहा था। लोगों की भीड़ वहां इकट्ठा हुई और उसपर बच्चा चोर का आरोप लगाते हुए वारदात को अंजाम दे दिया गया। बताया जा रहा है कि मृतक का नाम प्रथम सिंह था जो पास के ही रंगा मटिया का निवासी था। उसके तीन पुत्र और एक बीवी थी। मॉब लीचिंग के शिकार मृत प्रथम सिंह की पत्नी लक्ष्मी देवी के लिखित शिकायत पर पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

दूसरी वारदात धनबाद के भूली ओपी क्षेत्र स्थित गैंग्स ऑफ़ वासेपुर के नाम से पूरी दुनियां में मशहूर हो चुके वासेपुर के आरा मोड़ पर अंजाम दिया गया। समय शुक्रवार की सुबह एक व्यक्ति जिसका नाम राजेश यादव था उसे भीड़ ने बिना कुछ सोचे समझे उसपर बच्चा चोर होने का आरोप मढ़ दिया और उसे सड़क किनारे बांध कर बूरी तरह पिट दिया गया। वो तो समय पर यहां पुलिस पहुंच गई, जिससे व्यक्ति की जान बच गई।