Blog single photo

जश्न-ए-यंगिस्तान: न्यूज 24 करेगा पलक मुछाल को सम्मानित

पलक मुछाल को लोग बॉलीवुड गायक के रूप में जानते हैं, लेकिन इससे अलग भी उनकी एक पहचान है और इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। पलक मात्र 5 साल की उम्र से समाजिक

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो,नई दिल्ली (23 नवंबर): पलक मुछाल को लोग बॉलीवुड गायक के रूप में जानते हैं, लेकिन इससे अलग भी उनकी एक पहचान है और इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। पलक मात्र 5 साल की उम्र से समाजिक कार्यों से जुड़ी रही हैं और गरीबों की मदद करती रही हैं। साल 1999 में जब कारगिल की लड़ाई छिड़ी थी, तब उन्होंने शहीदों के परिवारों के लिए दुकानों और गली के नुक्कड़ों पर गाना गाकर चंदा इकट्ठा किया।उसके बाद पलक अपने भाई पलाश के साथ विदेशों में स्टेज शो करने लगीं, उन स्टेज शो से वह जो भी पैसा कमाती थी, वह गरीब बच्चों को दान करती हैं। सन 2001 मे पलक ने गुज़रात के भूकंप पीडितों की सहायता के लिए 10 लाख रुपयों का चंदा ईकट्ठा किया। जुलाई 2003 में पलक ने पाकिस्तान की नागरीक बच्ची, जो ह्रदय रोग से पीडित थी और भारत में इलाज के लिए आई थी, उसके लिए वित्तीय सहायता की पेशकश की। दिसंबर 2006 तक पलक ने अपने धर्माध संगठन पलक मुच्छल हार्ट फाऊंडेशन के लिए कुल 1.2 करोड रुपयों की राशि इकट्ठा की थी जिससे 234 बच्चों का ऑपरेशन किया गया। जून 2009 तक पलक ने कुल 1.71 करोड रुपयों की राशि इकट्ठा कि की जिससे 338 बच्चों की जान बचायी जा सकी।पलक मुच्‍छल का जन्म माहेश्वरी मारवाडी परिवार में 30 मार्च 1992 में मध्यप्रदेश इंदौर में हुआ था। उनके पिता का नाम राजकुमार मुच्छल जोकि एक संस्था में अकाउंटेंट हैं। उनकी मां का नाम अमित मुच्छल है। उनका एक छोटा भाई पलाश मुच्छल है। पालक को संगीत का शौक बचपन से ही था। उन्होंने महज चार वर्ष की उम्र में ही गाना शुरू कर दिया था। उन्होंने हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत की शिक्षा गृह की है। इसके साथ ही वह 17 भाषायों में पूर्ण रूप से पारंगत हैं। पलक ने अपनी हिंदी फ़िल्मी करियर की शुरुआत साल 2011 में फिल्म दमादम से की। उसके बाद उन्होंने "ना जाने कबसे", "एक था टायगर", "फ्रॉम सिडनी वुईथ लव", "आशिकि 2" और बंगाली फिल्म रॉकि के लिए गाने गाये। पलक को हिंदी सिनेमा में कामयाबी फिल्म "एक था टायगर" और "आशिकि 2" से मिली।युवा देश का भविष्य होता है। नई और युवा सोच ही देश को आगे लेकर जाती है, आज का युवा ही यंग इंडिया का आधार रख रहा है। ये यंग इंडिया ही है जो विश्व में अपना प्रभाव छोड़ रहा है। और इसी यंग इंडिया की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए इस साल भी देश का प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल 'न्यूज़ 24' अपने खास सम्मान समारोह 'जश्न-ए-यंगिस्तान' का आयोजन कर रहा है। 'जश्न-ए-यंगिस्तान'समारोह नई दिल्ली में 24 नवंबर की शाम आयोजित किया जाएगा। इस गरिमामय समारोह के मुख्य अतिथि माननीय उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू होंगे। 'जश्न-ए-यंगिस्तान' में सिनेमा से लेकर क्रिकेट तक और बिजनेस से लेकर सामाजिक क्षेत्र तक में अपना प्रभाव छोड़ने वाली युवा शक्तियों का सम्मान किया जाएगा।इस समारोह में फिल्मी जगत से जुड़े best actor, best Actress, best comedian, Rising star of the year, popular singer जैसे अवार्ड दिए जाएंगे। वहीं खेल की दुनिया में Sportsperson of the year और क्रिकेट के लिए खास कैटेगरी में सम्मान दिए जाएंगे। इस समारोह में राजनीति, बिज़नेस, कला, साहित्य, मीडिया और सामजिक क्षेत्र में योगदान के लिए अलग-अलग कैटेगरी में युवा हस्तियों को सम्मानित किया जाएगा।'जश्न-ए-यंगिस्तान'की सबसे बड़ी खासियत रहेगी उन शहीदों का सम्मान जिन्होने देश के लिए बलिदान दिया है, इसके लिए खास तौर से "मातृभूमि सम्मान" दिया जाएगा। वहीं देश की हिफाज़त में अदम्य साहस का परिचय देने वाले सुरक्षा बलों के वीरों को भी सम्मानित किया जाएगा, जिनमें जांबाज़ महिला सुरक्षाकर्मी भी शामिल रहेंगीं।  न्यूज 24 के 'जश्न-ए-यंगिस्तान' समारोह में बॉलीवुड स्टार करीना कपूर खान, आयुष्मान खुराना, तापसी पन्नु, जायरा वसीम जैसे बड़े सितारे शामिल हो रहे हैं। वहीं इस समारोह में शामिल होने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस भी दिल्ली आ रहे हैं। इसके अलावा इस मेगा इवेंट में गायिका पलक मुछाल, गायक अंकित तिवारी, लेखक अमीष त्रिपाठी, फिल्म डायरेक्टर शशांक खेतान कॉमेडियन सुनील ग्रोवर, आपारशक्ति खुराना भी नज़र आएंगे। 'जश्न-ए-यंगिस्तान' में कई जानी-मानी खेल हस्तियों के अलावा क्रिकेटर अंबाति रायडू खास आकर्षण होंगे।

Tags :

NEXT STORY
Top