Blog single photo

जश्न-ए-यंगिस्तान: न्यूज 24 करेगा अमीश त्रिपाठी को सम्मानित

अमीश त्रिपाठी एक प्रसिद्ध लेखक हैं। शायद उनके बारे में यह बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि उनकी किताब को एक समय किसी भी पब्लिशर्स ने छापने से मना कर दिया था, लेकिन जब वह

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो,नई दिल्ली (23 नवंबर): अमीश त्रिपाठी एक प्रसिद्ध लेखक हैं। शायद उनके बारे में यह बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि उनकी किताब को एक समय किसी भी पब्लिशर्स ने छापने से मना कर दिया था, लेकिन जब वह छापी गई तो रिकॉर्ड बिकी। उनके द्वारा लिखी गई किताबों की अभी तक 50 लाख कापियां बिक चुकी हैं, जो अपने आप में कीर्तिमान है।अमीश की कहानी पर हॉलीवुड फिल्म भी बनी है। इन्होंने  प्रसिद्ध उपन्यास “दी इममोर्टल ऑफ़ मेलुहा, दी सीक्रेट ऑफ़ दी नागास, दी ओथ ऑफ़ दी वायुपुत्रा, स्कोन ऑफ़ इक्ष्वाकु एंड सीता: वारियर ऑफ़ मिथिला” लिखी हैं। अमिश त्रिपाठी का जन्म मुंबई में हुआ और ओडिशा के पास रौर्केला में उनका पालन-पोषण हुआ। साथ ही मुंबई के सेंट ज़ेवियर कॉलेज और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, कलकत्ता के वे भूतपूर्व छात्र है। असल में वे एक इतिहासकार बनना चाहते थे और इसीलिए उन्होंने फाइनेंस को अपने करियर के रूप में चुना। फाइनेंस सर्विस इंडस्ट्री में उन्होंने तक़रीबन 14 साल तक काम किया, इन 14 सालो में उन्होंने स्टैण्डर्ड चार्टर्ड, DBS बैंक और IDBI फ़ेडरल लाइफ इंश्योरेंस के साथ काम किया।फ़ोर्ब्स इंडिया ने भी अमिश को लगातार 2012, 2013, 2014 और 2015 में भारत के 100 प्रसिद्ध सेलिब्रिटीज की सूचि में शामिल किया है। अमिश की नियुक्ति आइजनहावर फेलो कार्यक्रम में भी की गयी थी, जो दुनिया के सर्वश्रेष्ट लीडरो का एक प्रसिद्ध कार्यक्रम है। अमिष भगवान शिव के बड़े भक्त रहे हैं, इसीलिए अब तक उनकी सभी किताबें धर्म व अध्यात्म पर आधारित रही हैं। अमिष के दादाजी बनारस में संस्कृत के शिक्षक और प्रकाण्ड पंडित थे और हिन्दु धर्म से जुड़ी सभी जानकारी व देवी-देवताओं से जुड़े तथ्य उन्होंने उन्हीं की जुबानी सुने थे। उनका मानना है कि भारत में धर्म और अध्यात्म से जुड़ी चीजों को हाथों-हाथ लिया जाता है।युवा देश का भविष्य होता है। नई और युवा सोच ही देश को आगे लेकर जाती है, आज का युवा ही यंग इंडिया का आधार रख रहा है। ये यंग इंडिया ही है जो विश्व में अपना प्रभाव छोड़ रहा है। और इसी यंग इंडिया की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए इस साल भी देश का प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल 'न्यूज़ 24' अपने खास सम्मान समारोह 'जश्न-ए-यंगिस्तान' का आयोजन कर रहा है। 'जश्न-ए-यंगिस्तान'समारोह नई दिल्ली में 24 नवंबर की शाम आयोजित किया जाएगा। इस गरिमामय समारोह के मुख्य अतिथि माननीय उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू होंगे। 'जश्न-ए-यंगिस्तान' में सिनेमा से लेकर क्रिकेट तक और बिजनेस से लेकर सामाजिक क्षेत्र तक में अपना प्रभाव छोड़ने वाली युवा शक्तियों का सम्मान किया जाएगा।इस समारोह में फिल्मी जगत से जुड़े best actor, best Actress, best comedian, Rising star of the year, popular singer जैसे अवार्ड दिए जाएंगे। वहीं खेल की दुनिया में Sportsperson of the year और क्रिकेट के लिए खास कैटेगरी में सम्मान दिए जाएंगे। इस समारोह में राजनीति, बिज़नेस, कला, साहित्य, मीडिया और सामजिक क्षेत्र में योगदान के लिए अलग-अलग कैटेगरी में युवा हस्तियों को सम्मानित किया जाएगा।'जश्न-ए-यंगिस्तान'की सबसे बड़ी खासियत रहेगी उन शहीदों का सम्मान जिन्होने देश के लिए बलिदान दिया है, इसके लिए खास तौर से "मातृभूमि सम्मान" दिया जाएगा। वहीं देश की हिफाज़त में अदम्य साहस का परिचय देने वाले सुरक्षा बलों के वीरों को भी सम्मानित किया जाएगा, जिनमें जांबाज़ महिला सुरक्षाकर्मी भी शामिल रहेंगीं।  न्यूज 24 के 'जश्न-ए-यंगिस्तान' समारोह में बॉलीवुड स्टार करीना कपूर खान, आयुष्मान खुराना, तापसी पन्नु, जायरा वसीम जैसे बड़े सितारे शामिल हो रहे हैं। वहीं इस समारोह में शामिल होने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस भी दिल्ली आ रहे हैं। इसके अलावा इस मेगा इवेंट में गायिका पलक मुछाल, गायक अंकित तिवारी, लेखक अमीश त्रिपाठी, फिल्म डायरेक्टर शशांक खेतान कॉमेडियन सुनील ग्रोवर, आपारशक्ति खुराना भी नज़र आएंगे। 'जश्न-ए-यंगिस्तान' में कई जानी-मानी खेल हस्तियों के अलावा क्रिकेटर अंबाति रायडू खास आकर्षण होंगे।

Tags :

NEXT STORY
Top