News

JNU के वाइस चांसलर पर हमला! गाड़ी का शीशा तोड़ा, सुरक्षागार्डों ने बचाया

फीस बढ़ोतरी को लेकर जेएनयू का आक्रोश अभी तक खत्म नहीं हुआ है। सरकार सीधे तौर पर जेएनयू के छात्रों के साथ बातचीत कर मामले को हल करने की कोशिश कर रही है, लेकिन कहीं न कहीं जा कर मसला अटक ही जाता है। इसी बीच शनिवार को एक और घटना हो गयी।

JNU, VC, Attack, Students, Agitation

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 नवंबर): फीस बढ़ोतरी को लेकर जेएनयू का आक्रोश अभी तक खत्म नहीं हुआ है। सरकार सीधे तौर पर जेएनयू के छात्रों के साथ बातचीत कर मामले को हल करने की कोशिश कर रही है, लेकिन कहीं न कहीं जा कर मसला अटक ही जाता है। इसी बीच शनिवार को एक और घटना हो गयी। जिससे हालात और गंभीर होने के आसार बन गये हैं। जानकारी मिली है कि जेएनयू के वाइस चांसलर एम. जगदीश कुमार पर शनिवार को प्रदर्शनकारी छात्रों ने कथित रूप से हमला कर दिया। वीसी एम. जगदीश कुमार ने मीडिया को बताया कि कुछ छात्रों ने उन्हें घेर कर हमला किया है, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बचा लिाय़

वाइस चांसलर एम. जगदीश कुमार ने मीडियाकर्मियों को बताया, 'आज (शनिवार) को उन पर हमला किया गया। उन्होंने बताया कि वो स्कूल ऑफ ऑर्ट्स ऐंड ऐस्थेटिक्स गये थे। जहां पहले से खड़े स्टूडेंट्स ने उन्हें घेर लिया। छात्रों ने उन्हें नीचे खींचने की कोशिश की। वीसी बोले कि छात्र हमले के मूड में थे। भाग्यवश, सुरक्षाकर्मी वहां आ गये और उन्होंने ने बचा लिया। वीसीने गहरी सांस लेते हुए कहा ...और मैं बच गया।' हमलावर छात्रों ने उनके कार का शीशा भी तोड़ने की कोशिश की।

इसे भी देखेंः फीस बढ़ोतरी के खिलाफ राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च कर रहे जेएनयू छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

हॉस्टल फीस के मुद्दे पर जेएनयू के स्टूडेंट्स एक महीने से ज्यादा वक्त से प्रदर्शनरत है। उनकी मांगों को देखते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक पैनल का भी गठन किया। उधर, गुरुवार को प्रदर्शनकारी छात्रों द्वारा प्रशासनिक ब्लॉक पर कब्जे के बाद पहली बार अपने कार्यालय आए कुलपति ने 18 छात्रावासों के अध्यक्षों के साथ बैठक की, लेकिन यह बैठक बेनतीजा रही।

जेएनयू प्रशासन की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को पुलिस को निर्देश दिया था कि कुलपति, रजिस्ट्रार और अन्य अधिकारियों के प्रशासनिक ब्लॉक में आने पर पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई जाए। जेएनयू के स्टूडेंट्स के आंदोलन में राजनीतिक लोग भी सक्रिए हो गये हैं। सूत्रों का कहना है कि यही लोग स्टूडेंट्स को भड़का रहे हैं और शांति स्थापित करने में बाधा बने हुए हैं। सरकार ने नयी हॉस्टल पॉलिसी में कई संशोधन भी कर दिये हैं।

Images Courtesy:Google


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top