ईरान की ट्रंप को चेतावनी, हमले की हिमाकत न करे अमेरिका - माकूल जवाब मिलेगा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जून):  डोनॉल्ड ट्रंप के तीखे तेवरों का जवाब ईरान भी उसी अंदाज में जवाब दे रहा है। अमेरिका ने गुरुवार की रात ईरान पर हमले का आदेश जारी कर दिया था मगर आखिरी क्षणों में उन्होंने अपना आदेश वापस ले लिया था। इसके बाद ट्रंप ओमान के जरिए ईरान पर दबाव बनाने की कोशिश की। जब ट्रंप का यह हथियार भी काम न आया तो उन्होंने सऊदी अरब से बात-चीत की और फिर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से आपातकालीन बैठक बुलाने का आग्रह किया। अमेरिका की  इन गतिविधियों के इतर ईरान ने कहा है कि किसी भी अमेरिकी खतरे का माकूल जवाब दिया जाएगा।ईरानी सेना के प्रवक्ता अबुलफजल शेकारची ने कहा, 'ईरान के किसी भी दुश्मन अमेरिका या  उसके सहयोगियों की ओर से हमारे खिलाफ कोई ऐक्शन को आग को हवा देने जैसा होगा।' गुरुवार को ईरानी मिसाइल ने अमेरिका के ग्लोबल हॉक सर्विलांस ड्रोन को मार गिराया था। ईरान का कहना था कि उसने ड्रोन को अपने इलाके में गिराया है, जबकि अमेरिका का कहना है कि उसने इस घटना को इंटरनैशनल एयरस्पेस में अंजाम दिया है। यह तनाव गुरुवार शाम को इस कदर बढ़ा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड्र ट्रंप ने ईरान पर हमले की मंजूरी दे दी थी, लेकिन फिर इसे वापस ले लिया गया।हमले के फैसले को वापस लेने पर खुद सामने आए डॉनल्ड्र ट्रंप ने कहा था कि इसमें 150 निर्दोष लोगों की जान को खतरा था, इसलिए फैसले को वापस ले लिया गया। यही नहीं उन्होंने बातचीत का विकल्प खुला रहने की भी बात कही थी। हालांकि ईरान ने माकूल जवाब देने की बात कहकर अपने तेवर जाहिर कर दिए हैं।ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्बास मोसावी ने कहा, 'वे कोई भी फैसला लें, लेकिन हम किसी को भी ईरान की सीमा का उल्लंघन नहीं करने देंगे। अमेरिका की ओर से किसी भी आक्रामक कार्रवाई या फिर खतरे का हम करारा जवाब देंगे।'Images Courtesy:Google