Blog single photo

सबसे बुरे दिनों में 'इंडस्ट्री', आठ साल में सबसे कम हुआ उत्पादन

सोमवार शाम औद्योगित उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) के अधिकारिक आंकड़े जारी किए गए। पिछले साल सितंबर में औद्योगिक उत्पादन की ग्रोथ 4.6 फीसदी रही थी. अगस्त में औद्योगिक उत्पादन में 1.1 फीसदी की गिरावट आई थी। 26 महीनों के बाद आईआईपी में गिरावट आई थी। औद्योगिक उत्पादन में कमी देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी बात नहीं है।

न्यूज 24 ब्यूरो, पटना (11 नवंबर): सितंबर में लगातार दूसरे महीने औद्योगिक उत्पादन में गिरावट आई है। इसमें 4.3 फीसदी गिरावट आई है. यह करीब 8 साल में औद्योगिक उत्पादन में सबसे बड़ी गिरावट है। मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर के खराब प्रदशन के चलते औद्योगिक उत्पादन में गिरावट आई।

सोमवार शाम औद्योगित उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) के अधिकारिक आंकड़े जारी किए गए। पिछले साल सितंबर में औद्योगिक उत्पादन की ग्रोथ 4.6 फीसदी रही थी.अगस्त में औद्योगिक उत्पादन में 1.1 फीसदी की गिरावट आई थी। 26 महीनों के बाद आईआईपी में गिरावट आई थी। औद्योगिक उत्पादन में कमी देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी बात नहीं है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि दर घटकर 5 फीसदी पर आ गई थी।

सितंबर में अर्थव्यवस्था के 23 औद्योगिक समूहों में से 17 की ग्रोथ निगेटिव रही है। सितंबर में बुनियादी उद्योगों (कोर सेक्टर) की ग्रोथ में सबसे ज्यादा 5.2 फीसदी की गिरावट आई। अगस्त में यह आंकड़ा 0.5 फीसदी था। कोर सेक्टर की ग्रोथ में बड़ी गिरावट में कोल माइनिंग का बड़ा हाथ रहा. इसमें 20.5 फीसदी की निगेटिव ग्रोथ रही।

images courtesy: Google

Tags :

NEXT STORY
Top