Blog single photo

योग पर भारत में होती है राजनीति, बांग्लादेश के मुसलमानों ने लिया जमकर हिस्सा

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (21 जून) के मौके पर भारत के साथ दुनिया भर के कई शहरों में योग शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देहरादून में वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) में आम लोगों के साथ योगाभ्यास किया।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जून): अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (21 जून) के मौके पर भारत के साथ दुनिया भर के कई शहरों में योग शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देहरादून में वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) में आम लोगों के साथ योगाभ्यास किया।

योग को लेकर जहां भारत में इसपर राजनीति देखने को मिलती है तो वहीं दूसरी ओर बांगलादेश में मुस्लिमों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर भारतीय उच्चायोग में आयोजित योग शिविर में जमकर हिस्सा लिया। योग पर राजनीति करने और उसे धर्म से जोड़ने वालों के लिए यह करारा जवाब है।

योग दिवस पर रामदेव ने कोटा में 2 लाख लोगों के साथ योग प्रशिक्षण दिया। आईएनएस विराट और आईएनएस ज्योति पर नौसैनिकों ने योग किया। केंद्र सरकार के कई मंत्रियों और बीजेपी नेताओं ने भी अलग-अलग शहरों में योग किया। देश भर में अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग ढंग से योग दिवस मनाया गया।

इसके अलावा विदेशों में भी लोगों ने योग के साथ अपने दिन की शुरुआत की। योग दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य और खुशहाली के लिए दुनिया का सबसे बड़ा जन आंदोलन बन गया है।

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्रीमंडल के विभिन्न मंत्रियों ने भी अलग-अलग शहर में योग शिविर में हिस्सा लिया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ में योग किया तो स्मृति इरानी ने चंडीगढ़ में योग शिविर में हिस्सा लिया। नागपुर में सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने, चेन्नै में सुरेश प्रभु ने, बेंगलुरु में अनंत कुमार, हाजीपुर में रामविलास पासवान, पटना में रविशंकर प्रसाद और जयपुर में राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने योग किया।

NEXT STORY
Top