News

ये टिप्स आजमाने के बाद लंबी चलेगी आपके मोबाइल की बैटरी

लेटेस्ट ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन जहां नए-नए फीचर्स और बेहतरीन हार्डवेयर के साथ आ रहे हैं, वहीं बैटरी में ज्यादा इंप्रूवमेंट देखने को नहीं मिला है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(21 जुलाई): जब आप स्मार्टफोन पर कोई वीडियो या ऑडियो सुनते हो तो आपके मोबाइल की बैटरी एकदम खत्म होने लगती है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। लेटेस्ट ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन जहां नए-नए फीचर्स और बेहतरीन हार्डवेयर के साथ आ रहे हैं, वहीं बैटरी में ज्यादा इंप्रूवमेंट देखने को नहीं मिला है। यही वजह है कि अच्छे से अच्छे स्मार्टफोन भी एक दिन से ज्यादा का बैकअप नहीं दे पाते। ऐसे में अगर आप लंबी यात्रा कर रहे हों या ऐसी जगह गए हों, जहां चार्जिंग ऑप्शन नहीं है तो बड़ी दिक्कत हो जाती है। पावर बैंक एक विकल्प जरूर है, लेकिन एक वक्त बाद उसे भी चार्ज करना पड़ता है। आपके ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन की बैटरी का बड़ा हिस्सा उन ऐप्स और प्रोसेस की वजह से खर्च होता है, जिन्हें आप यूज नहीं कर रहे होते। इसी तरह कई तरीके हैं जिनकी मदद से बैटरी बैकअप बढ़ाया जा सकता है।

ये टिप्स आजमाने से बैटरी चलेगी लंबे समय तक 

ऐंड्रॉयड 6.0 और इसके बाद के ऑपरेटिंग सिस्टम में एक खास मोड दिया गया है जिसका काम तय करना है कि आपके स्मार्टफोन इस्तेमाल न करने पर ऐप्स बैकग्राउंड में न चलती रहें। यह डोज मोड एक तय समय के बाद ऐप्स और प्रोसेस को बंद कर देता है, जिससे बैटरी खर्च नहीं होती। हालांकि, आप नहीं चाहेंगे कि सभी ऐप्स काम करना बंद कर दें क्योंकि ऐसे में आपको नोटिफिकेशंस या मेसेज नहीं मिलेंगे। इसके लिए सेटिंग्स में ऐप्स ऐंड नोटिफिकेशंस और यहां स्पेशल ऐप ऐक्सेस में जाकर आपको बैटरी ऑप्टिमाइजेशन सेलेक्ट करना होगा। यहां आपको दिख जाएगा कि डोज मोड में कौन से ऐप ऑप्टिमाइज नहीं किए जाते। आप जरूरत के हिसाब से किसी ऐप को लिस्ट में रख सकते या इससे हटा सकते हैं।

दो स्मार्ट बैटरी सेविंग फीचर्स अडॉप्टिव बैटरी और अडॉप्टिव ब्राइटनेस भी मिलते हैं, जो एआई की मदद से समझते हैं कि आप अपने ऐप्स और स्क्रीन को किस तरह और कितना इस्तेमाल करते हैं। ये फीचर्स इसी हिसाब से ऐप और स्क्रीन ब्राइटनेस को अजस्ट कर देते हैं। इस तरह बैटरी जरूरत भर ही खर्च होती है। इन दोनों को सेटिंग्स में बैटरी और डिस्प्ले में जाकर इनेबल किया जा सकता है

किसी ऐप की मदद लें

प्ले स्टोर पर कई ऐसे ऐप्स मौजूद हैं जो बैटरी बचाने का दावा करते हैं और उनमें से कई कारगर भी हैं। AccuBattery और Greenify ऐसे ही ऐप्स में शामिल हैं। एक्युबैटरी जहां आपके बैटरी यूज को समझते हुए आपको जरूरी नोटिफिकेशंस देता है, वहीं ऑप्टिमाइज करते हुए बता देता है कि बैटरी के हिसाब से स्मार्टफोन कितनी देर और इस्तेमाल किया जा सकता है। ग्रीनीफाइ ऐप बाकी ऐप्स को हाइबरनेट कर देता है और वे बैटरी खर्च नहीं कर पातीं। 

आप खुद ग्रीनीफाइ में गैरजरूरी ऐप्स को ऐड कर सकते हैं।सबसे जरूरी और अच्छा तरीका अपने स्मार्टफोन के ऐप ड्रॉर में जाने के बाद उन ऐप्स को अनइंस्टॉल कर देना होता है, जो आप यूज नहीं करते या अब इस्तेमाल करके ऊब चुके हैं। फोन में जितने कम ऐप्स होंगे, उतनी कम बैटरी भी खर्च होगी। इसके अलावा आप सेटिंग्स में बैटरी में जाकर देख सकते हैं कि कौन सा ऐप सबसे ज्यादा बैटरी यूज करता है। आप ऐसे ऐप्स को हाइबरनेट कर सकते हैं या जरूरत के हिसाब से हटा भी सकते हैं।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top