News

क्या आपका डेटा चुरा रहा है FaceApp? जानें एक्सपर्ट्स का क्या है कहना

FaceApp वायरल हो चुका है। भारत में भी लोग इस ऐप को खूब डाउनलोड कर रहे हैं। अब खबर आ रही है कि यह लोगों का डेटा चुरा रहा है। कुछ लोग इस ऐप की प्राइवेसी को लेकर सवाल उठा रहे हैं।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(18 जुलाई):  FaceApp वायरल हो चुका है। भारत में भी लोग इस ऐप को खूब डाउनलोड कर रहे हैं। अब खबर आ रही है कि यह लोगों का डेटा चुरा रहा है। कुछ लोग इस ऐप की प्राइवेसी को लेकर सवाल उठा रहे हैं। तो कुछ लोग ये कह रहे हैं कि फेसबुक, वॉट्सऐप और दूसरी ऐप्स की भी प्राइवेसी पॉलिसी इसी तरह की होती है।

FaceApp के फाउंडर और सीईओ ने इंटरव्यू देना भी शुरू कर दिया है। ये ऐप दुनिया भर में अचानक से वायरल हुआ है। हालांकि यह 2017 से ही ऐप स्टोर पर है। अभी आलम ये है कि ये ऐप क्रैश कर रहा है और कहीं लोग इसे यूज भी नहीं कर पा रहे हैं।

अगर हम FaceApp के टर्म्स और कंडीशंन की बात करे तो इसकी पॉलिसी ये साफ कहती है कि यूजर की फोटोज और डेटा कंपनी के पास रहेगी और इसे विज्ञापन के लिए नहीं बेचा जाएगा। हालांकि यहां ये भी कहा गया है कि अगर इस ग्रुप की कंपनी को इसकी जरूरत पड़े तो वो यूजर का डेटा यूज कर सकती है।

FaceApp एक रशियन ऐप है और इसके फाउंडर ने कहा है कि इससे यूजर्स को प्राइवेसी का कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा है कि कंपनी यूजर डेटा किसी थर्ड पार्टी को सेल नहीं करती है। अगर यूजर चाहें तो फेस ऐप से अपना डेटा डिलीट भी करा सकते हैं।

कई साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह ऐप सिर्फ वही डेटा रखता है जो आप उसे देते हैं। सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स का कहा है कि FaceApp के टर्म्स और कंडीशन्स में भी वो ही बातें हैं जो फेसबुक और वॉट्सऐप में होते हैं। ये ऐप भी उसी तरह के परमिशन यूजर्स से लेता है। ये ऐप बैकग्राउंड में यूजर्स की फोटो अपने सर्वर पर अपलोड नहीं करता है।


Top