News

जानें आज कहा हैं 90 के दशक में टॉपलेस फोटोशूट कराने वाली ममता कुलकर्ली

ममता कुलकर्णी 90 के दशक की सबसे सेंसुअश और हॉट हीरोइन्स में शुमार होती थी। बड़े से बड़ा डायरेक्टर, बड़े से बड़ा एक्टर ममता के साथ एक फ़िल्म ज़रूर करना चाहता था।1992 में ममता ने बॉलीवुड में फ़िल्म तिरंगा से कदम रखा। हालांकि ये एक पैट्रियॉटिक फ़िल्म थी और राजकुमार-नाना पाटेकर जैसे एक्टर्स के बीच किसी

 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 सितंबर): कुछ दिन पहले ममता कुलकर्णी को भगोड़ा घोषित किया गया था। कोर्ट ने उनकी संपत्ति जब्त करने के आदेश दे दिए़। इंडिया की पुलिस ममता को अब 2000 करोड़ के ड्रग्स के मामले में तलाश रही थी। हालांकि ममता बार-बार इन इल्ज़ामों से इनकार करती रही हैं।

ममता कुलकर्णी 90 के दशक की सबसे सेंसुअश और हॉट हीरोइन्स में शुमार होती थी। बड़े से बड़ा डायरेक्टर, बड़े से बड़ा एक्टर ममता के साथ एक फ़िल्म ज़रूर करना चाहता था।1992 में ममता ने बॉलीवुड में फ़िल्म तिरंगा से कदम रखा। हालांकि ये एक पैट्रियॉटिक फ़िल्म थी और राजकुमार-नाना पाटेकर जैसे एक्टर्स के बीच किसी और हीरो हीरोइन को मौका मिलने की गुंजाइश वैसे भी नहीं दिए थी, लेकिन ममता की खूबसूरती और अदाओं ने बॉक्स ऑफ़िस से लेकर बॉलीवुड की तक की निगाहों को अपना दीवाना बना लिया।

 

इसके ठीक अगले साल ममता ने सैफ़ अली ख़ान के साथ आशिक आवारा साईन की। इस फ़िल्म के लिए ममता और सैफ़ दोनो को बेस्ट डेब्यू का अवॉर्ड भी मिला। गोविंदा के अशांत में भी ममता ने काम किया अगले दो साल में ममता ने आधे दर्ज़न से भी ज़्यादा फ़िल्में कीं। अगले तीन साल तक के लिए ममता की डेट डायरी फ़ुल हो गई ।

इसी दौरान ममता ने अपनी इमेज को ज़्यादा बोल्ड बनाने के मकसद से स्टारडस्ट मैगज़ीन के लिए टॉपलेस फोटोशूट कराया। ये फोटोशूट बॉलीवुड में सनसनी फैला गया। टॉपलेस फोटोशूट करवाने की वजह से ममता पर केस दर्ज हो गया था। महिला संगठनों ने ममता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। इस फोटोशूट से ममता बदनाम हुई तो साथ साथ उनका नाम भी हुआ। 

1994 में नाना पाटेकर स्टारर क्रांतिवीर में भी ममता नज़र आईं। अगले दो साल ममता कुलकर्णी के लिए बेहद कामयाब साबित हुए। अक्षय कुमार के साथ ममता कुलकर्णी ने सबसे बड़ा खिलाड़ी साईन की ये फ़िल्म सुपरहिट साबित हुई। आमिर ख़ान ने ममता के साथ जोड़ी जमाई ये फ़िल्म थी बाज़ी। इसी साल आई करन-अर्जुन में ममता सलमान के अपोज़िट कास्ट हुईं। इस फ़िल्म के एक सेंसुअश गाने राणा जी ने ममता की शोहरत में चार चांद लगा दिए।  

Image result for SALMAN KHAN MAMTA

इंडस्ट्री में ये बात भी कही जाती है कि ममता ने एक के बाद एक बहुत सारी फ़िल्में साईन कर ली थीं, बिना स्क्रिप्ट पर ध्यान दिए और इसकी वजह ममता की मां थीं, जो उनपर ज़्यादा से ज़्यादा फ़िल्में करने का दबाव बनाती रहती थीं। इसी के चलते लगातार हिट्स के बाद ममता का करियर ढलान पर जाने लगा। ममता स्क्रीन पर बोल्डनेस की हद तक पहुंच गईं। घातक फ़िल्म में आइटम नंबर और चाईऩा गेट में एक छोटे से रोल के अलावा ममता के ख़ाते में आगे सिर्फ़ फ्लॉप फ़िल्में ही आने लगीं।

गोविंदा स्टारर नसीब को छोड़कर ममता कुलकर्णी की फ़िल्मों को दर्शकों ने नकारना शुरू कर दिया था। 1998 से लेकर 2002 तक ममता ने बैक टू बैक 6 फ्लॉप फ़िल्में दीं, नतीजा प्रोड्यूसर और एक्टर्स तब ममता कुलकर्णी के नाम से कतराने लगे। ममता जिस तेजी के साथ बॉलीवुड में उभरी, उतनी ही तेजी के साथ उनकी किस्मतका सितारा यहां डूब भी गया।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram , Google समाचार.

Tags :

Top