Blog single photo

डोभाल समिति ने की चौंकाने वाली सिफारिशः आरटीआई के दायरे में आयेगा सीडीएस का पद

डोभाल समिति (Dobhal Committee) ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) (CDS) की नियुक्ति के तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने में जुट गई है। इससे दिसंबर अंत तक सरकार को एकीकृत सैन्य सलाहकार मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा। डोबाल समिति (Dobhal Committee) ने कहा है कि सीडीएस का पद आरटीआई (RTI) के दायरे में रहना चाहिए।

अजीत डोभाल, एनएसए सीडीएस Ajit Dobhal NSA CDS

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (2 दिसंबर): डोभाल समिति (Dobhal Committee) ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) (CDS) की नियुक्ति के तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने में जुट गई है। इससे दिसंबर अंत तक सरकार को एकीकृत सैन्य सलाहकार मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा। डोबाल समिति (Dobhal Committee) ने साफ कर दिया है कि सीडीएस का पद आरटीआई (RTI) के दायरे में रहना चाहिए। फिल्हाल जिम्मेदारियों को अंतिम रूप देने के लिए एनएसए अजीत डोभाल की अध्यक्षता में बनी समिति ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) के लिए रूपरेखा तैयार की और अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी।

संभावना है कि सरकार अगले दो सप्ताह के भीतर इसकी घोषणा करेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐतिहासिक सैन्य सुधार करते हुए 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से घोषणा की थी कि भारत की तीनों सेना के लिए एक प्रमुख होगा, जिसे सीडीएस (CDS) कहा जाएगा। कारगिल रिव्यू कमेटी ने 1999 में करगिल युद्ध के बाद से ही सीडीएस (CDS) नियुक्त करने का प्रस्ताव रखा था। रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने भी सोमवार को राज्यसभा में कहा कि सीडीएस सूचना के अधिकार कानून के दायरे में आएगा। प्रधानमंत्री की घोषणा के कुछ दिनों बाद, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल की अध्यक्षता में एक डोभाल समिति (Dobhal Committee) को एक सक्षम ढांचे को अंतिम रूप देने और सीडीएस (CDS)  के लिए सटीक जिम्मेदारियों को निर्धारित करने के लिए नियुक्त किया गया था। नाइक ने राज्यसभा में एक सवाल का जवाब देते हुए कहा, उक्त समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है।

इसे भी देखेंः नये साल में भारत को मिल जायेगा पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, जनरल रावत का नाम सबसे आगे!

उन्होंने कहा कि समिति को जिम्मेदारियों को निर्धारित करने और अंतिम रूप देने के लिए गठित किया गया था और इसमें शामिल सभी अन्य मुद्दों के अलावा सीडीएस के लिए एक सक्षम ढांचे का सुझाव दिया गया था। सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना ने पहले ही शीर्ष पद के लिए अपने वरिष्ठतम कमांडरों के नामों की सिफारिश रक्षा मंत्रालय से कर दी है। फिलहाल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत इस पद के लिए सबसे आगे चल रहे हैं। जनरल रावत 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त होने वाले हैं और सरकार के शीर्ष सूत्रों के मुताबिक, अगर सब कुछ योजना के अनुसार होता है तो सरकार उन्हें देश के पहले सीडीएस के रूप में सामने लाएगी।

Images Courtesy: Google

Tags :

NEXT STORY
Top