सीबीआई को सीएजी जैसा संवैधानिक दर्जा मिलना चाहिए- सीजेआई गोगोई

प्रशांत देव, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 अगस्त): भारत के मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने  सीबीआई को अपने काम और अधिकार में और सुविधाएं मिलने की वकालत की। चीफ जस्टिस ने इस बात पर जोर दिया कि  सीबीआई जैसी संस्था को संवैधानिक दर्जा मिलने से संस्था और मजबूत होगी।  

जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि जिस तरह से सीएजी जैसी संस्थाएं काम करती है उसी तरह से सीबीआई को भी संवैधानिक दर्जा मिलना चाहिए। अभी सीबीआई दिल्ली पुलिस स्टैबलिशमैंट ऐक्ट के तहत बनी एक संस्था है जहां कई बार ऐसी स्थिति  आती है कि सीबीआई के सामने कि वो अपनी पूरी क्षमता के साथ काम नहीं कर पाती है। क्योंकि कई मामलों में उसके अधिकार सीमित हो जाते है।  और संविधानिक दर्जा होने की स्थिति में सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि सीबीआई का अपना अलग से बजट होगा। जिससे वो अपने काम में रोज आने वाली नई चुनौतियों  से मिपटने के लिए एजेंसी खुद सक्षम होगी।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई सीबीआई के डीपी कोहली मेमोरियल लेक्चर में बतौर चीफ गेस्ट और मुख्य वक्ता के तौर पर आमंत्रित थे। जहां चीफ जस्टिस ने ये बातें कहीं। चीफ जस्टिस ने सीबीआई के काम की जहां तारीफ की वहीं  ये भी बताया कि सीबीआई में किस तरह से लोगों की कमी है। कई पद खाली पड़े हैं। और लोगों की कमी की वजह से सीबीआई के काम में किस तरह से असर पड़ता है। चीफ जस्टिस ने जोर देकर ये बात कही कि सीबीआई जैसी संस्था से लोगों की उम्मीद बहुत ज्यादा है। जिसपर सीबीआई को खरा उतरने की चुनौती हमेशा रहती है।

Images Courtesy:Google