बिहार: जमीनी विवाद में एक बिल्डर को मारी गोली, मामला दर्ज

firing

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, बिहार(9 सितंबर): राज्य सरकार भले ही आपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए संजीदा नजर आ रही हो, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती है। बिहार में अपराधी  बेलगाम सड़कों पर घूम रहे हैं, उनसे पूछने वाला कोई नहीं है। ठेकेदारी और जमीनी विवाद को लेकर रियल स्टेट के ठेकेदार को कुछ लोगों ने तीन गोली मार दी। घायल ठेकेदार का इलाज पटना राजेन्द्र नगर स्थित निजी नर्सिंग होम में हो रहा है। वहीं, बिल्डर जितेन्द्र के दोस्त ने कहा कि हत्या के लिए सुपारी दी गई थी। हत्या का प्लान आखिर कब से बन रहा था, कब से अपराधी रेकी कर रहे थे। अब पुलिस इस मामले में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। कई लोगों के खिलाफ थाने में मामला दर्ज किया गया है।

कदम कुआं में पिरमुहानी से ठीक पहले बाइक सवार अपराधियों ने बिल्डर जितेंद्र यादव को गोली मार दी, घटना रविवार रात की है बीपी कंपलेक्स स्थितअपने आवास जा रहा था तभी बाइक सवार दो अपराधी वहां पहुचे और उसपर गोलियों की बौछार कर दी। गोली लगते ही बिल्डर खून से लथपथ होकर गिर गया, स्थानीय लोगों ने भाग रहे अपराधियों को खदेरा, उनमें से एक मोहम्मद ताहिर उर्फ मोहम्मद साहब उर्फ मो रेयाज को पकड़ लिया  और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने उसके पास से पिस्टल और एक बाइक बरामद की है। वहीं, बिल्डर जितेन्द्र यादव के दोस्त व राजद के प्रदेश सचिव अरुण कुमार सिंह ने कहां की बिल्डर जितेन्द्र यादव एक शरीफ आदमी थे, जिनका जीना मुश्किल हो गया है।

वही, इस पूरे मामले को लेकर पटना के टाउन डीएसपी सुरेश प्रसाद ने कहा कि बिल्डर जितेंद्र यादव को तीन गोली लगी है एक जगह से गोली ऑपरेट होकर निकला है। एक जगह फंसा हुआ था बाकी निकल गया परिजन ने जमीन विवाद का मामला बताया है वहीं टाउन डीएसपी से मीडिया ने सवाल किया कि अभी बिल्डर जितेंद्र की क्या स्थिति है ऐसे में टाउन डीएसपी सुरेश प्रसाद ने साफ तौर पर कहा कि स्थिति की जानकारी दो आपको डॉक्टर साहब बताएंगे।

जाहिर है इन दिनों बिहार में बिल्डरों पर अपराधियों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है। बिल्डर्स के परिजन जहां इस मामले को लेकर जमीन विवाद का मामला बता रहे हैं वही पटना की पुलिस इस पूरे प्रकरण पर अभी पत्ते नहीं खोल पाई है। अब देखना है की पुलिस जांच के बाद क्या कुछ बड़ा खुलासा करती है वह तो आने वाला समय बताएगा फिलहाल बिहार में जिस प्रकार से आर्डर की समस्या बिगड़ती जा रही है पैसे ने साफ कहा जा सकता है कि बिहार में अब सही में हंसी बकरी की तरह हत्या हो रही है।