खुदकुशी से पहले भय्यूजी महाराज ने किए थे ये ट्वीट

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 जून): कथावाचक भय्यूजी महाराज ने अपने निवास पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। अस्पताल ले जाते वक्त ही उन्होंने रास्ते में दम तोड़ दिया। हालांकि अभी तक इस बात की कोई जानकारी नहीं मिली है कि उन्होंने यह कदम क्यों उठाया।न्यूज 24 को पारिवारिक सूत्रों से खबर मिली है कि पत्नी से अनबन के चलते उन्होंने यह कदम उठाया। सूत्रों ने बताया कि भय्यूजी महाराज की अपनी दूसरी पत्नी डॉक्टर आयुषी के साथ काफी दिनों से अनबन चल रही थी। दोनों का भय्यूजी की पहली पत्नी की बेटी को लेकर कई बार झगड़ा भी हो चुका था। पहली पत्नी के मरने के बाद डॉक्टर आयुषी से साल 2017 में हुई थी शादी।वहीं भय्यूजी महाराज ने आत्महत्या से पहले तीन ट्वीट भी किए थे। पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'आज मासिक शिवरात्रि है। यह प्रत्येक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है। हिन्दू धर्म में इस शिवरात्रि का भी बहुत महत्त्व है। 'शिवरात्रि' भगवान शिव और शक्ति के अभिसरण का विशेष पर्व है।'

दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'धार्मिक मान्यता है कि 'मासिक शिवरात्रि' के दिन व्रत आदि करने से भगवान शिव की विशेष कृपा द्वारा कोई भी मुश्किल और असम्भव कार्य पूरे किये जा सकते हैं। 'अमांत पंचांग' के अनुसार माघ मास की 'मासिक शिवरात्रि' को 'महाशिवरात्रि' कहते हैं।'

तीसरे ट्वीट में उन्होंने मासिक शिवरात्रि के बारे में बताया, उन्होंने लिखा, 'मासिक शिवरात्रि' को 'महाशिवरात्रि' कहते हैं। दोनों पंचांगों में यह चन्द्र मास की नामाकरण प्रथा है, जो इसे अलग-अलग करती है। मै सभी भक्तगणों को इस पवन दिवस की बधाई एवं शुभकामनाये देता हूं।