नौकरी खोज रहे युवाओं के लिए खुशखबरी, इन बैंकों में निकलेगी बंपर वैकेंसी

Photo: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (17 दिसंबर): 
अगर आप बेरोजगार हैं और एक बेहतर नौकरी की तलाश में है तो शायद आपकी यह तलाश अब जल्द ही खत्म हो जाए, क्योंकि देश के बैंकिंग क्षेत्र में आने वाले समय में बेहतरीन मौके होंगे। देश के बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक इस वितीय वर्ष के दौरान एक लाख नौकरियां लेकर आ रहे हैं।

इन बैंको को वेल्थ मैनेजमेंट, विश्लेषण, डिजिटल सेवा और ग्राहक सेवा के लिए योग्य उम्मीदवारों की तलाश होगी। बैंक इन क्षेत्रों में अपनी विस्तार कर कारोबार बढ़ाने की तैयारी में हैं। देश की प्रमुख मानव संसाधन कंपनी टीमलीज के मुताबिक सरकारी बैंकों में क्लर्क कम और अधिकारी ज्यादा होंगे। अभी कुल कर्मचारियों में करीब 20 प्रतिशत क्लर्क कैटेगरी में आते हैं। भारतीय स्टेट बैंक यानी एसबीआई में यह संख्या करीब 45 प्रतिशत है। कर्ज या एनपीए से लड़ाई लड़ने के बाद सरकारी बैंक अब कड़ी टक्कर देते नजर आ रहे हैं। हालांकि सरकारी बैंकों को काम करने का तौर-तरीका निश्चित तौर पर बदलना होगा। उम्मीद है बैंक भर्ती के दौरान इन बातों का ध्यान रखेंगे।

बीते दो सालों में सरकारी बैंकों ने हर साल करीब 47,000 कर्मचारियों को क्लर्क, मैनेजमेंट ट्रेनी और प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर नियुक्त किया है। एक अखबार को दिए गए इंटरव्यू के मुताबिक, सिंडिकेट बैंक के सीईओ मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि इस साल बैंक की रणनीतिक नियुक्तियां होंगी। हमें लगता है कि बैंक इस साल 500 लोगों की भर्तियां करेगा। निजी और विदेशी बैंकों की तुलना में वेतन भी काफी आकर्षक रखा गया है। सिंडिकेट बैंक के कर्मचारियों की औसत उम्र 37 साल है, जो दो-तीन साल पहले 46.5 साल थी।

सरकारी बैंक अब निजी बैंकों के कर्मचारियों को मुख्य नैतिकता अधिकारी, मुख्य मार्केटिंग अधिकारी, मुख्य निवेश अधिकारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी, विश्लेषण प्रमुख, डिजिटल मार्केटिंग प्रमुख जैसे पदों पर नियुक्त कर रहे हैं। इनकी सालाना सैलरी 50 लाख रुपये तक जा सकती है। देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई तेजी से भर्ती प्रक्रिया को अमल में लाना चाहता है। साथ ही बैंक 5,000 लोगों को भी नए रोल में नियुक्त करने की योजना बना सकता है। आईडीबीआई बैंक भी शीर्ष पदों पर भर्ती की तैयारी में है।