Blog single photo

EU से ब्रेक्जिट डील खतरे में, ब्रिटिश सांसदों ने पीएम जॉनसन को दिया झटका

जॉनसन को एक झटका देते हुए 306 के मुकाबले 322 सांसदों ने ब्रेक्जिट में देर कराने वाले एक महत्वपूर्ण संशोधन पर मतदान किया। इसका यह मतलब है कि जॉनसन को सांसदों द्वारा पूर्व में पारित बेन अधिनियम के तहत शनिवार आधी रात तक यूरोपीय संघ को पत्र लिखकर 31 अक्टूबर को खत्म हो रही ब्रेक्जिट की समयसीमा बढ़ाने की मांग करनी होगी।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 अक्टूबर): ब्रिटेन की संसद में 37 साल में पहली बार एक ऐतिहासिक सप्ताहांत संसदीय सत्र में सांसदों ने बोरिस जॉनसन के ब्रेक्जिट समझौते में देर कराने वाले एक प्रस्ताव का समर्थन करने के लिये मतदान किया। जॉनसन को एक झटका देते हुए 306 के मुकाबले 322 सांसदों ने ब्रेक्जिट में देर कराने वाले एक महत्वपूर्ण संशोधन पर मतदान किया। इसका यह मतलब है कि जॉनसन को सांसदों द्वारा पूर्व में पारित बेन अधिनियम के तहत शनिवार आधी रात तक यूरोपीय संघ को पत्र लिखकर 31 अक्टूबर को खत्म हो रही ब्रेक्जिट की समयसीमा बढ़ाने की मांग करनी होगी।

जॉनसन और उनकी टीम ने इससे पहले कहा था कि वह कानून के शासन का पालन करेंगे। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि जॉनसन का अगला कदम क्या होगा। जॉनसन ने शनिवार को मतदान के तुरंत बाद संसद में घोषणा की कि वह ब्रेक्जिट की समयसीमा बढ़ाने की मांग अक्टूबर के अंत तक नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि वह 31 अक्टूबर तक ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से निकालने के लिये सबकुछ करेंगे।

सांसदों ने तर्क दिया कि वे समझौते के ब्योरे का अध्ययन करने के लिये और समय चाहते हैं। ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से अलग होने की समयसीमा 31 अक्टूबर है। सांसदों ने इस संशोधन का समर्थन किया, जिसमें सरकार को ब्रेक्जिट के लिये अगले साल जनवरी तक का समय मांगने का अनुरोध करने के लिये कहा गया है।

कंजरवेटिव पार्टी के सांसद ओलिवर लेटविन ने संसद के विशेष सत्र में यह संशोधन पेश किया, जिसका सांसदों ने समर्थन किया। वहीं ईयू ने ब्रिटेन से जल्द से जल्द ब्रेक्जिट योजना पर अगला कदम बताने के लिये कहा। यूरोपीय यूनियन की प्रवक्ता मीना एंड्रीवा ने ट्वीट किया, "ब्रिटेन सरकार पर निर्भर है कि वह हमें जल्द से जल्द अगले कदम के बारे में सूचित करे।"

Images Courtesy:Google

Tags :

NEXT STORY
Top