ममता दीदी की नाक नीचे बीजेपी ने लगाई सेंध, दिनाजपुर जिलापरिषद पर लहराया बीजेपी का परचम

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (24 जून): लोकसभा चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में शामिल होने का सिलसिला जारी है। सोमवार को दिल्ली स्थिति भाजपा कार्यालय में कालचीनी के तृणमूल कांग्रेस के विधायक विल्सन चम्परामारी, दक्षिण दिनाजपुर के तृणमूल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष बिप्लव मित्रा के साथ दक्षिण दिनाजपुर जिला परिषद के जिलासभाधिपति सहित कुल 14 सदस्य भाजपा में शामिल हो गये।  और इस तरह के दिनाजपुर जिला परिषद पर बी बीजेपी का परचम लहरा उठा।दक्षिण दिनाजपुर जिला परिषद में कुल 18 सदस्य हैं। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में पहली बार दक्षिण दिनाजपुर जिला परिषद पर भाजपा का कब्जा हो गया। इसके पहले चार नगरपालिकाओं पर भाजपा का कब्जा हो चुका है। इस अवसर पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में भाजपा के कार्यकारिणी समिति के सदस्य मुकुल राय ने कहा कि यह पहले चरण का विस्तार है। सात चरणों में भाजपा में शामिल कराने का कार्यक्रम रखा गया था। जब सात चरणों में शामिल करने का सिलासिला समाप्त होगा, तब तृणमूल कांग्रेस विधानसभा में अपना बहुमत खो चुकी होगी।प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल में आराजकता का माहौल है। कट मनी को लेकर आंदोलन चल रहे हैं। कई तृणमूल कांग्रेस के नेता उन लोगों के संपर्क में हैं। प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि चार नगरपालिकाओं पर भाजपा का कब्जा हो चुका है। अब बंगाल में पहली बार जिला परिषद पर भी भाजपा का कब्जा हो गया है।पंचायत चुनाव के दौरान जबरन इस जिला परिषद पर तृणमूल कांग्रेस ने कब्जा कर लिया था, लेकिन अब वह भाजपा के साथ है। श्री घोष ने आरोप लगाया कि जिन नगरपालिकाओं पर भाजपा का कब्जा हुआ है। तृणमूल सरकार ने वहां प्रशासक नियुक्त कर दिया है और पीछे दरवाजे से सत्ता का कब्जा कर रखा है। हार के भय से 18 नगरपालिकाओं में चुनाव नहीं करवा रही है, क्योंकि उन्हें पराजय का डर है।

Image Courtesy:Google