Blog single photo

राजस्थान : बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या, फिर तलवार से किया सिर कलम

राजस्थान के प्रतापगढ़ में बीजेपी नेता समरथ कुमावत की बाइक सवार हमलावरों ने दिन दहाड़े क्रूरता से हत्या कर दी। समरथ कुमावत पर उस हमला हुआ जब वह दिन में सडक़ किनारे खड़े थे। पुलिस ने बताया कि उसी दौरान एक बाइक पर सवार तीन-चार लोग आए और पहले उन्हें गोली

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, केजे श्रीवत्सन, जयपुर (4 नवंबर): राजस्थान के प्रतापगढ़ में बीजेपी नेता समरथ कुमावत की बाइक सवार हमलावरों ने दिन दहाड़े क्रूरता से हत्या कर दी। समरथ कुमावत पर उस हमला हुआ जब वह दिन में सडक़ किनारे खड़े थे। पुलिस ने बताया कि उसी दौरान एक बाइक पर सवार तीन-चार लोग आए और पहले उन्हें गोली मारी उसके बाद तलवार से उसका सिर काट दिया।यह घटना राजस्थान के दक्षिणी जिले प्रतापगढ़ से चार किमी की दूरी पर स्थित गांव में हई। जिसके चलते कुमावत की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। हमलावर बीजेपी नेता पर जानलेवा हमला करने के बाद तुरंत वहां से फरार हो गए। समरथ कुमावत बीजेपी ओबीसी प्रकोष्ठ प्रतापगढ़ ग्रामीण मंडल के उपाध्यक्ष थे, जिनकी धारदार हथियार से गला रेतकर गोली मार दी गई। हत्या के बाद इलाके में तनाव फैल गया है। ग्रामीण शव को लेकर मौके पर ही बैठ गए।तनाव की स्थिति को देखते हुए वहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। पुलिस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पहुंचे। हालांकि देर शाम शव को वहां उठवाकर जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया। रविवार को सुबह शव का पोस्टमार्टम करवाया गया, लेकिन परिजनों व ग्रामीणों ने अभी तक शव को नहीं लिया है। उनकी मांग है कि पहले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। आक्रोशित ग्रामीणों ने जिला अस्पताल के सामने नेशनल हाइवे को जाम कर रखा है। मौके पर हजारों की संख्या में ग्रामीण मौजूद हैं।पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है, लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है। जानकारी के अनुसार शनिवार को वारदात प्रतापगढ़ कोतवाली थाना इलाके में सुबह करीब 11.30 बजे हुई। शुरुआती जांच में आपसी रंजिश इसका कारण बताया जा रहा है। कहा यह भी जा रहा है कि हत्या की इस घटना में तीन लोग शामिल थे। हमलावरों ने पहले समरथ का धारदार हथियार से गला रेता और फिर गोली मारी। समरथ को आपसी रंजिश के चलते दो दिन पहले ही जान से मारने की धमकी मिली बताई जा रही है। मृतक का बड़ा भाई शांतिलाल कुमावत भी पहले उपसरपंच रहा चुका है।

Tags :

NEXT STORY
Top